कुशवाह नगर में चली अतिक्रमण मुहिम, 40 बाधक तोड़े

कुशवाह नगर में चली अतिक्रमण मुहिम, 40 बाधक तोड़े

इंदौर। नर्मदा की पाइप लाइन में बाधक निर्माण हटाने निगम ने एक बार फिर सोमवार को कुशवाह नगर में बड़े पैमाने पर कार्रवाई की। 40 मकान-दुकानों को जमींदोज किया। रहवासियों को खुद बाधक हटाने की मोहलत दी गई थी। रिमूव्हल विभाग के उपायुक्त महेन्द्रसिंह चौहान ने बताया कि कुशवाह नगर में जलसंकट दूर करने नर्मदा प्रोजेक्ट पाइप लाइन बिछाना चाहता है। अभी इस क्षेत्र में बोरिंग से पानी सप्लाय होता है। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले निगम ने यहां मार्किंग कर रहवासियों को नोटिस थमाए थे। नोटिस की मियाद समाप्त होने के बाद जेसीबी की मशीन से बाधक मकान- दुकानों का कुछ हिस्सा तोड़ा जा रहा था। जेसीबी के पंजे की धमक से मकानों में बड़ी दरारें आ रही थी। दरारों से डरकर रहवासियों ने खुद आगे आकर बाधक तोड़ने की बात कही। 

पंद्रह दिन पहले नोटिस

जब रहवासियों ने बाधक नहीं तोड़े तो निगम ने पंद्रह दिन पहले फिर नोटिस देकर सचेत किया। इस बार भी रहवासी हठधर्मिता पाले रहा। थक-हारकर निगम ने कठोर निर्णय लेते हुए शेष रहे सभी बाधकों को जेसीबी से ध्वस्त कर दिया। हालांकि, इससे रहवासियों को काफी नुकसान पहुंचा है। 

अब बिछेगी लाइन

बाधक हटाने के बाद आज मंगलवार से डम्पर लगाकर मलबा उठाया जाएगा। दो से तीन दिन में सारा मलबा उठाने के बाद नर्मदा की लाइन बिछाने का काम शुरू किया जाएगा। नर्मदा प्रोजेक्ट के अधिकारियों की मानें तो एक सप्ताह में लाइन बिछा दी जाएगी। कुशवाह नगर की लाइन को राजाबाग स्थित पेयजल टंकी से जोड़ा जाएगा।