कंस जैसा काम मोदी का, आडवाणी, जोशी का अपमान किया : कुसमरिया

कंस जैसा काम मोदी का, आडवाणी, जोशी का अपमान किया : कुसमरिया

भोपाल।    किसान आभार सम्मेलन में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले पूर्व मंत्री डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया को लेकर सियासत गरमा गई है। कुसमरिया ने जहां सीधे-सीधे कांग्रेस का दामन थामते ही भाजपा नेताओं की आलोचना की। इधर कुसमरिया के कांग्रेस जाने पर सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत ने विनाश काले विपरीत बुद्धि बताया। कुसमरिया ने शनिवार को कहा कि- बाबूलाल गौर के कहने पर वे कांग्रेस में शामिल हुए। इधर कांग्रेसियों के बीच चर्चा है कि नए सदस्य को कैसे एडजस्ट किया जाएगा। कांग्रेस में शामिल होने वाले डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया भाजपा नेताओं के कंस वाले बयान को स्पष्ट किया है। पीपुल्स समाचार ने पूछा कि आपने भाजपा नेताओं को कंस कहा, आपका इशारा किसकी तरफ है, तो उन्होंने स्पष्ट कहा नरेंद्र मोदी की तरफ। डॉ. कुसमरिया ने बुंदेलखंडी अंदाज में कहा कि क्या लालकृष्ण आडवाणी, नरेंद्र मोदी के पिता की तरह नहीं है। मोदी ने यह शुरुआत की। उन्होंने कहा- मोदी ने डॉ. मुरली मनोहर जोशी, जसवंत सिन्हा, शत्रुघ्न सिन्हा और तममा बुजुर्ग नेताओं की बेइज्जती करना शुरू किया।

दमोह, पन्ना और खजुराहो पर नजर

कुसमरिया ने कहा कि मैंने कांगे्रस की सदस्यता ली है अब पार्टी को तय करना है कि मुझे दमोह, पन्ना और खजुराहो से कहां से चुनाव लड़ाना है। उन्होंने यह भी कहा कि हमने टिकट देने जैसी कोई शर्त नहीं रखी लेकिन भरोसा है कि कांग्रेस धोखाधड़ी नहीं करेगी।

गौर बोलेकांगे्रस ज्वाइन करने की सलाह मैंने नहीं दी

शनिवार को कुछ टीवी चैनलों में कुसमरिया के कांग्रेस में शामिल होने की सलाह पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की खबर प्रसारित हुई। हालांकि पीपुल्स समाचार से बातचीत में गौर ने स्पष्ट कहा कि मैंने उन्हें ऐसी कोई सलाह नहीं दी। उन्होंने कहाकि यह उनका निजी मामला है। किसी के व्यक्तिगत फैसले पर मैं टिप्पणी करने में कोई भरोसा नहीं करता।