दोपहर 3.30 बजे देवास के लिए जाते दिखे बदमाश, पुलिस लग गई पीछे

दोपहर 3.30 बजे देवास के लिए जाते दिखे बदमाश, पुलिस लग गई पीछे
दोपहर 3.30 बजे देवास के लिए जाते दिखे बदमाश, पुलिस लग गई पीछे

इंदौर। अक्षत जैन का अपहरण कर 10 लाख की फिरौती मांगने वाले बदमाशों का पहला सुराग मोबाइल की कॉलिंग से लगा। मोबाइल की सीडीआर से बदमाशों से बतियाने वाले हर शख्स का डाटा पुलिस की स्क्रीन पर आ गया। बात करने वाले अपहरणकर्ताओं के साथ थे। ललितपुर, सागर, टीकमगढ़ के 10 संदेही पुलिस के सामने आए तो अपहरण का सारा राज खुल गया। बच्चे को लेकर सागर की तरफ भागे बदमाशों की लोकेशन का सारा काला चिट्ठा सामने आने के बाद पुलिस की घेराबंदी से बचने के लिए बदमाश बच्चे को सागर के पास बड़ोदिया मालथोन गांव में छोड़कर भाग गए। थाना प्रभारी राजीव भदौरिया ने बताया कि सुखलिया के समीप प्राइम सिटी निवासी रोहित जैन किराना व्यापारी है। उसका 6 साल का बच्चा अक्षत घर के समीप बगीचे में खेल रहा था, तभी बाइक से आए दो युवक उसे दादी ने बुलाया कहकर बैठाकर ले गए। घटना की जानकारी मिलते आग की तरह फैल गई। परिजन की रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात आरोपियों पर अपहरण का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। 

आरोपियों की तलाश जारी

बच्चा सागर से लेकर पुलिस टीम रवाना हो गई है। बच्चे से रास्ते में अपहरणकर्ताओं की बातों की जानकारी ली जा रही है। बच्चे को किस रास्ते से लाए, कहां रखा, मौके पर छोड़कर कब गए... यह भी पूछा जा रहा है। 

ऐसे पहुंची अपहरणकर्ताओं तक पुलिस