नाटा अब साल में दो बार, ड्राइंग टेस्ट के लिए बढ़ाया 30 मिनट का समय

नाटा अब साल में दो बार, ड्राइंग टेस्ट के लिए बढ़ाया 30 मिनट का समय

भोपाल  पांच वर्षीय बी.आर्क प्रोग्राम के लिए आयोजित होने वाली परीक्षा नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर(नाटा)देने वाले कैंडीडेट्स के लिए अच्छी खबर है। अब नाटा साल में एक बार आयोजित न होकर साल में दो बार आयोजित होगी यानी स्टूडेंट्स के पास दो बार परीक्षा देने का मौका रहेगा। यदि एक बार परीक्षा देने पर अच्छा स्कोर नहीं कर पाते तो दूसरी बार परीक्षा दे सकते हैं। दोनों परीक्षाओं में से जिसमें बेस्ट स्कोर होगा उसे दाखिले के लिए मान्य किया जाएगा। अभी तक स्टूडेंट्स एक बार असफल होने पर दूसरे साल का इंतजार करते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा काउंसिल आॅफ आर्किटेक्चर ने स्टूडेंट्स के हित में यह फैसला लिया है। ड्राइंग टेस्ट के लिए बढ़ाया समय... अभी तक पार्ट-1 मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन व पार्ट-2 ड्राइंग टेस्ट दोनों के लिए ही 90- 90 मिनट का समय निर्धारित थी, लेकिन साल 2019 में होने जा रही परीक्षा में पार्ट-1 का समय 90 मिनट से घटाकर 60 मिनट और पार्ट-2 यानी ड्राइंग पेपर का समय 90 मिनट से बढ़ाकर 120 मिनट कर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक लगातार ऐसा देखने में आ रहा था कि स्टूडेंट्स ड्राइंग के पेपर में ज्यादा असफल हो रहे हैं, जिसके चलते समय बढ़ाकर उन्हें बेहतर करने का मौका दिया गया है।

पहला मौका अप्रैल और दूसरा जुलाई में

कैंडीडेट्स नाटा की अधिकारिक वेबसाइट से आवेदन कर सकते हैं। पहला मौका 14 अप्रैल और दूसरा मौका 7 जुलाई को मिलेगा। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 14 अप्रैल की परीक्षा में शामिल होने के लिए 11 मार्च तक आवेदन कर सकते हैं। 7 जुलाई की परीक्षा में आवेदन के लिए 12 जून तक आवेदन करना होगा। दोनों बार परीक्षा देने के लिए 3500 रुपए फीस निर्धारित है, और एक बार परीक्षा देने के लिए 1800 रुपए।