मूर्ति स्थापना, चुनरी यात्रा के साथ नर्मदा जन्मोत्सव का आगाज

मूर्ति स्थापना, चुनरी यात्रा के साथ नर्मदा जन्मोत्सव का आगाज

जबलपुर।    शहर में जीवन दायिनी मां नर्मदा के जन्मोत्सव की चहुंओर धूम शहरू हो गई है। सोमवार को मां नर्मदा की मूर्तियों की स्थापना, पूजन, पाठ एवं चुनरी यात्रा एवं नर्मदा श्रंगार के साथ मां नर्मदा जन्मोत्सव का भव्य आगाज हो गया। गौरतलब है कि नर्मदा जन्मोत्सव के पूर्व शहर में अनेक स्थानों पर मां नर्मदा की प्रतिमाएं स्थापित कर पूजन का क्रम शुरू हो गया है। रविवार को रांझी से 21 सौ मीटर की भव्य चुनरी यात्रा निकालकर मां नर्मदा को अर्पित की गई। आयोजन की पूर्व संध्या पर भी 11 सौ फिट की चुनरी से मां नर्मदा का श्रंगार किया गया।

प्रशासन के पुख्ता इंतजाम

नर्मदा जन्मोत्सव को लेकर पुलिस- प्रशासन द्वारा ग्वारीघाट सहित शहर के सभी नर्मदा तटों पर विशेष व्यवस्थाएं की गई हैं। जाम से निपटने के लिए टैÑफिक प्लान बनाकर वाहनों का रूट एवं र्पाकिंग निर्धारित कर दी गई है। ग्वारीघाट, उमाघाट, जिलहरीघाट, भेड़ाघाट एवं तिलवाराघाट सहित सभी तटों की साफ-सफाई कर चकाचक कर दिया गया है। मंगलवार को लाखों लोग मां नर्मदा के दर्शन एवं पूजन करने घाटों पर पहुंचेंगे और शहर भर में जगह- जगह भंडारों का आयोजन होगा।

भक्ति भाव से निकली चुनरी यात्रा

मां नर्मदा चुनरी पद यात्रा समिति रांझी द्वारा बड़ा पत्थर दुर्गा मंदिर से ग्वारीघाट तक चुनरी यात्रा निकाली गई। इसमें हजारों नर्मदा भक्त शामिल हुए। भक्ति भाव के साथ सभी ने ग्वारीघाट पहुंचकर पूजन अर्चन किया एवं 21 सौ मीटर की चुनरी मां नर्मदा को अर्पित की गई। यात्रा में अध्यक्ष रामदास यादव, दिनेश यादव,उपस्थित थे।

गर्भगृह से निकलेंगी चरण पादुकाएं

मां नर्मदा उमाशंकर चुनरी भक्त समिति के तत्वावधान में शाम 4 बजे ग्वारीघाट में 11 सौ फिट की चुनरी से मां नर्मदा का श्रृंगार कर अभिषेक किया गया।