संगीत निशा से हुआ अग्रसेन महासभा भवन में सामूहिक विवाह का शुभारंभ

संगीत निशा से हुआ अग्रसेन महासभा भवन में सामूहिक विवाह का शुभारंभ

इंदौर  ।  आओ सखी मुझे मेहंदी लगा दो.. राजा की आएगी बरात... ये चंद गीतों की बानगी है, जो शनिवार शाम श्री अग्रसेन महासभा द्वारा बायपास स्थित भवन पर प्रारंभ हुए 13 युगलों के दो दिवसीय सामूहिक परिणय उत्सव के शुभारंभ पर आयोजित महिला संगीत में बड़े उत्साह के साथ गूंजे। वर-वधू पक्ष के दूर-दूर से आए मेहमानों ने महिला संगीत के इस आयोजन को कुछ इस अंदाज में संजोया था मानो घर की ही शादी हो। महासभा की ओर से अध्यक्ष राजेश बंसल के मार्गदर्शन में सबसे पहले दो मिनट का मौन रखकर देश के लिए शहीद हुए जवानों को श्रद्धासुमन समर्पित किए गए। संगीत निशा में सभी कार्यक्रम सादगी के साथ रखे गए। मात्र तीन घंटे में ही दूर-दूर से आए मेहमानों के बीच की दूरी पट गई और 13 युगलों का एक नया परिवार बन गया।

आज निकलेगा चल समारोह

श्री अग्रसेन महासभा के दो दिवसीय सामूहिक विवाह सम्मेलन में रविवार 17 फरवरी को सायं 7 बजे 13 जोड़े परिणय सूत्र में बंधेंगे। इसके पूर्व प्रात: 9 बजे गणेश पूजा, हल्दी, चाक- भात, मामेरा एवं सामेला के बाद सायं 4.30 बजे इस्कॉन कॉलोनी उद्यान से भव्य चल समारोह दो बैंडबाजों, 13 घोड़ियों पर सवार दूल्हों तथा छह बग्घियों में सजी- धजी दुल्हनों के साथ निकलेगा। मांगलिक भवन पर 13 तोरणद्वार, 13 लग्नवेदी, 13 मंडप एवं 13 विद्वानों की व्यवस्था की गई है। नवयुगलों को सायं 7 बजे से आशीर्वाद समारोह में राज्य के गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन के मुख्य आतिथ्य एवं समाजसेवी विनोद अग्रवाल, दिनेश मित्तल के विशेष आतिथ्य में गृहस्थी योग्य उपहार दिए जाएंगे।