सुप्रीम कोर्ट ने कहा- CBI के सामने पेश हों पुलिस कमिश्नर

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- CBI के सामने पेश हों पुलिस कमिश्नर

कोलकाता। सुप्रीम कोर्ट ने शारदा घोटाला केस में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने का आदेश दिया है। कुमार को शिलांग के सीबीआई दμतर में पेश होना होगा। कोर्ट ने साफ किया कि राजीव कुमार को गिरμतार नहीं किया जाएगा। मामले की अगली सुनवाई 20 फरवरी को होगी। कोर्ट ने सीबीआई की अवमानना याचिका पर पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव, डीजीपी और कोलकाता पुलिस कमिश्नर को 18 फरवरी के पहले जवाब देने को कहा है। कोर्ट ने अगली सुनवाई में बंगाल के प्रमुख सचिव, डीजीपी और कुमार को भी व्यक्तिगत रूप से पेश होने को कहा है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई वाली बेंच के सामने सीबीआई की तरफ से अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल पेश हुए। उन्होंने कहा कि कोलकाता पुलिस ने शारदा घोटाले के सबूतों से छेड़छाड़ की। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल सरकार ने घोटाले की जांच के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया था, कुमार इसके प्रमुख थे। 

आदेश के बाद ममता ने खत्म किया धरना

कोर्ट के आदेश के बाद प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को धरना खत्म कर दिया। वे कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार पर सीबीआई की कार्रवाई के खिलाफ रविवार रात से धरने पर बैठी थीं।  

गृह मंत्रालय ने दिए कुमार पर कार्रवाई के निर्देश

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने को कहा है। सूत्रों ने बताया कि राज्य के मुख्य सचिव को लिखे पत्र में मंत्रालय ने कहा है कि कुमार के खिलाफ सेवा नियमों और शर्तो का उल्लंघन करने के लिए कार्रवाई की जानी चाहिए।