सेल्फी से मिलेगी बीपी की 96% सटीक जानकारी

सेल्फी से मिलेगी बीपी की 96% सटीक जानकारी

टोरंटो। टोरंटो यूनिवर्सिटी के शोधकतार्ओं ने मोबाइल फोन के कैमरे से बीपी जानने का नया तरीका विकसित किया है। इसके तहत सेल्फी वीडियो की मदद से ब्लड प्रेशर जाना गया है। शोधकतार्ओं के मुताबिक, चीन और कनाडा के 1328 लोगों पर परीक्षण के दौरान 95-96% सटीक जानकारी के साथ तीन तरह के ब्लड प्रेशर मापने में सफलता मिली। ऐसे काम करती है तकनीक: टोरंटो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता पॉल झेंग ने ट्रांसडर्मल आॅप्टिकल इमेजिंग तकनीक विकसित की है। इस तकनीक की मदद के चेहरे की स्किन से ब्लड प्रेशर का पता लगाया जा सकता है। वीडियो बनाने के दौरान, मोबाइल कैमरे में लगे आॅप्टिकल सेंसर चेहरे पर पड़ने वाली लाल किरण को कैप्चर करते हैं जो स्किन के नीचे हीमोग्लोबिन के कारण रिμलेक्ट होती है। ट्रांसडर्मल आॅप्टिकल इमेजिंग तकनीक इन्हीं परावर्तित किरणों की मदद से शरीर में रक्त के दबाव की जानकारी देती है। शोधकतार्ओं का दावा है कि यह तकनीक 96 फीसदी सटीक परिणाम देती है। 

हाइपरटेंशन के मामले होंगे कम

शोधकतार्ओं के मुताबिक, ट्रांसडर्मल आॅप्टिकल इमेजिंग दुनिया में बढ़ते हाइपरटेंशन (हाई बीपी) के मामलों को कम करने में मदद करेगी। खासकर ऐसी जगहों पर जहां स्वास्थ्य सेवाएं आसानी से उपलबध नहीं हैं। अगर आपको पास फोन या कंप्यूटर है तो जानकारी सामने आने के बाद आप डॉक्टर से सीधे बात करते सकते हैं। टेक कंपनी न्यूरालॉजिक्स ने एनुरा नाम की ऐप रिलीज की है जो 30 मिनट के सेल्फी वीडियो से धड़कन और तनाव के स्तर की जानकारी देती है। कंपनी जल्द ही इस एप में ब्लड प्रेशर पता लगाने का फीचर शामिल करेगी जो पहले चीन के लिए रिलीज किया जाएगा। कंपनी के फाउंडर ली का कहना है यूजर की सेहत के आंकड़े एप क्लाउड पर अपलोड किए जाएंगे।