32 हजार परीक्षार्थी देंगे बोर्ड पैटर्न के एग्जाम

32 हजार परीक्षार्थी देंगे बोर्ड पैटर्न के एग्जाम

जबलपुर  । सरकारी स्कूलों में आज से 10वीं और 12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो चुकी हैं,समापन 18 फरवरी को होगा। परीक्षा सुबह 9 से 12 बजे तक आयोजित हुई, वहीं मंगलवार से 9वीं व 11वीं की वार्षिक परीक्षाएं शुरू हो जाएंगी जो 23 फरवरी तक चलेंगी। किसी भी कक्षा का कोर्स पूरा नहीं हुआ है, ऐसे में प्री-बोर्ड व वार्षिक परीक्षाओं का परिणाम बेहतर होने की उम्मीद कम है। उल्लेखनीय है कि अभी तक 5वीं व 8वीं कक्षा के प्रतिभा मूल्यांकन के परिणाम का आंकलन भी विभाग की ओर से नहीं हो पाया है, कोर्स भी अधूरा है। दोनों परीक्षाओं में 32 हजार छात्र शामिल होंगे। 9वीं कक्षा में 24,000 बच्चे और 11वीं कक्षा में 7,800 छात्र-छात्राओं का पंजीयन हुआ है।

टेस्ट रिपोर्ट की समीक्षा नहीं

इस सत्र में स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से स्कूलों में पढ़ाई कम बच्चों के मूल्यांकन के लिए टेस्ट लिए गए। इसमें बेसलाइन टेस्ट, मिडलाइन, इंडलाइन, प्रतिभा मूल्यांकन, एप्टीट्यूड टेस्ट शामिल है, लेकिन किसी की भी समीक्षा रिपोर्ट विभाग की ओर से जारी नहीं की गई। यहां तक कि इस बार तिमाही, छमाही परीक्षाओं की भी विभाग की ओर से समीक्षा नहीं की गई।

बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाएं आज से

सरकारी स्कूलों में हाईस्कूल व हायर सेकंडरी के नियमित परीक्षार्थियों की प्रायोगिक परीक्षाएं उनके विद्यालय में 12 फरवरी से शुरू हो रहीं हैं। ये परीक्षाएं 12 से 26 फरवरी के बीच एवं स्वाध्यायी छात्रों की प्रायोगिक परीक्षाएं उन्हें आवंटित परीक्षा केंद्र में 7 मार्च से 31 मार्च के बीच संचालित की जाएगी।

39 प्राचार्यों ने जमा नहीं की थी फीस

वर्ष 2016-17 में हुई 9वीं,11वीं की वार्षिक परीक्षाओं के दौरान प्रति छात्र 100 रुपए के मान से परीक्षा फीस ली गई। जिला शिक्षा कार्यालय में 189 हाई और हायर सेकेंडरी स्कूलों में से 39 स्कूल प्राचार्यों ने फीस जमा नहीं की। जिन्होंने जमा की, वे विचार विमर्श पोर्टल में उसकी एंट्री करना ही भूल गए। आयुक्त लोकशिक्षण के निर्देश पर प्रभारी डीईओ ने जमा फीस की पावती दिखाने के बाद ही परीक्षा सामग्री देने के निर्देश दिए हैं।