45 लाख की स्मैक के साथ दो आरोपी पकड़े

45 लाख की स्मैक के साथ दो आरोपी पकड़े

ग्वालियर ।  अलग-अलग रास्तों से शहर में स्मैक की खेप लेकर आए दो तस्करों को क्राइम ब्रांच की टीम ने पकड़ लिया। पकड़े गए तस्करों से 45 लाख रुपए की स्मैक बरामद हुई है। एक तस्कर बुधवार की रात करीब 7.50 बजे गोला का मंदिर थाना क्षेत्र के कटारे फार्म में 30 लाख रुपए की स्मैक लेकर आया था, जबकि दूसरा तस्कर न्यू कलेक्ट्रेट के पीछे रात करीब आठ बजे 15 लाख रुपए की स्मैक के साथ पकड़ा गया है। बताया जा रहा है कि तस्करों की योजना थी कि अगर एक पकड़ा जाता है तो दूसरा सप्लाई देने जाएगा। लेकिन क्राइम ब्रांच की घेराबंदी से वे सफल नहीं हो सके। क्राइम ब्रांच ने दोनों तस्करों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। एसपी नवनीत भसीन ने बताया कि सूचना मिली थी कि स्मैक तस्कर शहर में सप्लाई देने आने वाले हैं। सूचना मिलते ही क्राइम ब्रांच की टीम को अलग-अलग इलाकों में तैनात कर घेराबंदी कराई। जब पुलिस घेराबंदी कर ही रही थी, तभी पता चला कि एक तस्कर गोला का मंदिर थाना क्षेत्र के कटारे फार्म में ग्राहक का इंतजार कर रहा है। इसका पता चलते ही क्राइम ब्रांच ने दबिश दी और उसे पकड़ लिया। पकड़े गए युवक की तलाशी में उसके पास से करीब 300 ग्राम स्मैक बरामद हुई, जिसकी कीमत करीब 30 लाख रुपए है। पूछताछ में उसने अपना नाम कृष्णपाल कुशवाह पुत्र रामहरी कुशवाह निवासी सींगारपुर जिला शाहजहांपुर उत्तर प्रदेश बताया है। वहीं क्राइम ब्रांच ने न्यू कलेक्ट्रेट पहाड़ी के पीछे से एक अन्य तस्कर को घेराबंदी कर पकड़ा है। उसकी तलाशी में करीब 150 ग्राम स्मैक बरामद हुई है, जिसकी कीमत लगभग 15 लाख रुपए बताई गई है। पूछताछ में उसने अपना नाम प्रद्युम्न उर्फ शशांक पुत्र गणेश डण्डोतिया निवासी बहुला मेहगांव जिला भिंड बताया है। पकड़े गए तस्करों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पूछताछ की जा रही है।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

एएसपी क्राइम पंकज पांडेय ने बताया कि तस्करों को पकड़ने में थाना प्रभारी क्राइम विनोद छावई, एसआई महावीर सिंह, कुलदीप बर्गे, प्रधान आरक्षक राजीव सोलंकी, आरक्षक धर्मेन्द्र, गौरव, भगवती, राम तोमर, आकाश, आशीष और शैलेन्द्र की सराहनीय भूमिका है।

एसटीएफ भी रही कार्रवाई में मौजूद

बताया गया है कि स्मैक तस्करों के शहर में आने और पकड़ने में एसटीएफ टीम की महत्वपूर्ण भूमिका है। पकड़े गए तस्कर प्रद्युम्न डंडोतिया के बारे में एसटीएफ को सटीक सूचना मिली थी, उसने क्राइम ब्रांच के साथ संयुक्त कार्रवाई को अंजाम दिया।