8 सहकारी समितियों के प्रबंधकों व कर्मचारियों पर एफआईआर दर्ज

8 सहकारी समितियों के प्रबंधकों व कर्मचारियों पर एफआईआर दर्ज

ग्वालियर जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत किसानों से प्राप्त आवेदन एवं शिकायतों की जिला प्रशासन द्वारा तत्परता से कराई जांच में दोषी 8 प्राथमिक सहकारी समितियों के प्रबंधकों व अन्य कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। कलेक्टर भरत यादव ने संबंधित अधिकारियों को हिदायत दी है कि किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाला कोई भी कर्मचारी बचना नहीं चाहिए। उप आयुक्त सहकारिता श्रीमती अनुभा सूद ने बताया कि डबरा विकासखंड की प्राथमिक सहकारी संस्था इटायल, सिमरियाताल व किटोरा के समिति प्रबंधकों व अन्य दोषी कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर कराई गई है। इसी तरह भितरवार विकासखंड की प्राथमिक सहकारी संस्था बनवार, चीनौर, करहिया व ईंटमा तथा मुरार विकासखंड की टिहोली संस्था के दोषी कर्मचारियों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की गई है। इन संस्थाओं के अलावा डबरा की झाड़ौली व मेहगांव सहित अन्य संस्थाओं के दोषी कर्मचारियों व व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की कार्रवाई प्रचलन में है। गौरतलब है कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना तथा फर्जी कृषि ऋण के संबंध में शिकायतें दर्ज कराने के लिए ग्वालियर में उप आयुक्त सहकारिता के कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है।

सहयोग न करने वालों पर भी होगा मामला दर्ज

कलेक्टर भरत यादव ने बैठक में निर्देश दिए कि किसानों के नाम से फर्जी ऋण निकालने एवं जय किसान फसल ऋण माफी योजना में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ एफआईआर करानी है। सहकारिता विभाग का अमला सहकारी बैंक प्रबंधक या कॉपरेटिव इंस्पेक्टर इस काम में सहयोग नहीं करते हैं, गड़बड़ी करने वालों का सहयोग करते हैं तो उनके खिलाफ भी आपराधिक मामला दर्ज कराया जाएगा। उन्होंने सहकारिता निरीक्षक मुरार व डबरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश भी दिए।