स्मार्ट शहर की सड़कों पर गड्ढों की भरमार

स्मार्ट शहर की सड़कों पर गड्ढों की भरमार

इंदौर ।   इस साल हुई तेज बारिश ने शहर की नई बनी सड़कों की गुणवत्ता की पोल खोल दी है। पिछले कई दिन से सतत् हो रही बारिश से अनेक क्षेत्रों की सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। कुछ स्थानों पर आधे से अधिक सड़क कट चुकी होने और उधड़ी सड़क पर दौड़ते वाहन से उड़ती गिट्टी और चूरी से वाहन चालक दुर्घटनाओं के शिकार हो रहे हैं। हालांकि, इनको छुपाने के लिए निगम ने जगह-जगह पैंचवर्क शुरू कर दिया है, लेकिन सालभर पहले बनी सड़कों पर हुए गड्ढे विभागों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रहे हैं। हमेशा बनी रहती है दुर्घटना की आशंका बरसात के सीजन में शहर के सड़क मार्गों के बीच बने गड्ढे लोगों के लिए खतरे से खाली नहीं हैं। कई जगह तो हालात ऐसे बने हैं, जहां हर समय हादसे की आशंका बनी रहती है। बारिश में पानी भरने के बाद ये गड्ढे और अधिक खतरनाक हो जाते हैं। शहर के कई रोड ऐसे हैं, जहां से निकलते समय छोटे-बड़े वाहन चालकों को विशेषकर बरसात के समय गड्ढों में पानी जमा होने से गड्ढों का पता नहीं चलता और वाहन का टायर गड्ढे में जाने से दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। खजराना, बाणगंगा, कुशवाह नगर, गाड़ी अड्डा, मरीमाता, रंगवासा, संगमनगर, कालानीनगर, एरोड्रम रोड, नेमावर रोड, रिंगरोड, एमआर- 10, गौरीनगर, एलआईजी से पाटनीपुरा आदि रोड पर बड़े-बड़े गड्ढे दुर्घटनाओं को न्योता दे रहे हैं।

अफसरों को दिए निर्देश

महापौर मालिनी लक्ष्मणसिंह गौड़ व निगमायुक्त आशीष सिंह द्वारा शहर में हो रही बारिश के दौरान शहर के प्रमुख मार्गों व अन्य मार्गों पर गड्ढे होने पर नागरिकों को यातायात में परेशानी न हो, इस हेतु सभी जोनल अधिकारियों को अपने-अपने जोन-वार्ड क्षेत्र में मेटल पैंचवर्क करने के निर्देश दिए गए। इसी क्रम में शहर के विभिन्न स्थानों पर गड्ढे भरकर मेटल पैंचवर्क का कार्य शुरू किया गया।

इन क्षेत्रों में सड़क सुधार का कार्य शुरू

इनमें शहर के झांकी मार्ग चिमनबाग, एमजी रोड, जवाहर मार्ग, तुकोगंज थाना क्षेत्र, हवा बंगला रोड, विदुर नगर, नवलखा चौराहा, तीन इमली ब्रिज के नीचे, तीन इमली बस स्टैंड, रेडिसन चौराहा, पीपल्याहाना क्षेत्र, तिलक नगर, सयाजी होटल चौराहा, मामा- भानजा रोड तिलक पथ, बक्षीबाग क्षेत्र, अहिल्या आश्रम स्कूल रोड, डीआरपी लाइन चौराहा, तिलक पथ आदि क्षेत्र शामिल हैं।