गंदे पानी की शिकायत पर तुरंत हो एक्शन : कलेक्टर

गंदे पानी की शिकायत पर तुरंत हो एक्शन : कलेक्टर

ग्वालियर। शहर में गंदे पानी की सप्लाई के चलते बुधवार को कलेक्टर अनुराग चौधरी ने मोतीझील व तिघरा फिल्टर प्लांट का निरीक्षण किया। इस निरीक्षण के दौरान उन्होंने आदेश दिया कि शहर में कहीं पर भी गंदे पानी की शिकायत न मिले। किसी भी क्षेत्र से गंदे पानी की शिकायत मिलने पर निगम अधिकारी तत्काल कार्रवाई करें। इसके साथ ही पानी की गुणवत्ता की विशेष निगरानी की जाए। प्लांट पर 24 घंटे वरिष्ठ अधिकारी निगरानी रखें। उन्होंने कहा कि प्लांट के पास ही रिजर्व पानी के लिए बनी मोतीझील में 8 से 10 फब्बारे लगाए जाएं। चौधरी ने कहा कि प्रदूषण नियंत्रण विभाग के अधिकारी तिघरा, के दोनों प्लांटों और शहर में पेयजल वितरण स्थलों से सेम्पल लें, जिससे पानी की गुणवत्ता को परखा जा सके कि जनता को कैसा पानी मिल रहा है। इसके साथ ही क्षेत्र में जिन टंकियों के माध्यम से पेयजल का वितरण किया जा रहा है, वहां अधिकारी वितरण के समय निगरानी रखें। दोनों प्लांटों के साथ ही शहर में वितरित किए जा रहे पेयजल की भी समय-समय पर सेम्पल लेकर जांच कराई जाए।

ननि को गुणवत्ता सही मिली

निगम आयुक्त संदीप माकिन ने बताया कि दोनों फिल्टर प्लांटों के माध्यम से जल शुद्धिकरण कर शहर में स्थापित पानी की टंकियों के माध्यम से जल वितरण किया जा रहा है। पीले पानी की समस्या के निदान हेतु भी निगम द्वारा प्रभावी कार्रवाई की गई है। निगम द्वारा पानी की सेम्पलिंग कर जांच भी कराई गई, जिसमें सभी सेम्पल में पानी की गुणवत्ता ठीक पाई गई है। गर्मी के मौसम में पानी के पीले पन की शिकायत आती है, जिसका निराकरण निगम ने अपने स्तर से कर लिया है।

यह रहे मौजूद

निरीक्षण के दौरान नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, एसडीएम प्रदीप तोमर, सीबी प्रसाद, पुष्पा पुषाम, नगर निगम के अधीक्षण यंत्री आर एल एस मौर्य, कार्यपालन यंत्री करहिया, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी एम पी सिंह सहित नगर निगम के अधिकारीगण उपस्थित थे।

सड़क पर खड़े मिले ठेले

रास्ते में सब्जी मंडी के आस- पास सड़क पर ही ठेले लगाकर व्यवसाय करने तथा यातायात को बाधित देखकर कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व प्रदीप तोमर को निर्देश दिए कि नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठकर सब्जीमंडी मार्ग, जो कि एबी रोड भी है, उसके यातायात को सुगम बनाने हेतु कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करें। जिन लोगों ने अस्थाई अतिक्रमण कर सड़क पर सामान रख लिया है, उसे हटाने की भी कार्रवाई की जाए।