हथियार विकसित करने नई एजेंसी के गठन को मंजूरी

हथियार विकसित करने नई एजेंसी के गठन को मंजूरी

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार ने अंतरिक्ष में भी दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी कर ली है। अंतरिक्ष में युद्ध की संभावनाओं के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा पर कैबिनेट कमेटी (सीसीएस) ने नई एजेंसी गठित करने को मंजूरी दे दी है। इस एजेंसी का नाम रक्षा अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी (डीएसआरए) रखा गया है। डीएसआरए अंतरिक्ष युद्ध से जुड़ी संवेदनशील हथियार प्रणाली और तकनीकी विकास की दिशा में काम करेगी। डआगे एजेंसी को वैज्ञानिकों की एक टीम उपलब्ध कराई जाएगी, जो तीनों सेनाओं के साथ मिलकर काम करेगी। इसके साथ ही यह भारतीय सेना के तीनों अंगों वाली रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी (डीएसए) के अनुसंधान और विकास में भी सहायता करेगी। एयर मार्शल रैंक के अधिकारी की देखरेख में बेंगलुरु में रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी का गठन किया जा रहा है। यह एजेंसी आने वाले समय में तीनों सेनाओं की अंतरिक्ष से जुड़ी क्षमताओं की जगह ले लेगी। अंतरिक्ष एवं साइबर हमलों से निपटने मोदी सरकार ने हाल के वर्षों में विशेष तैयारी की है और उसने कई एजेंसियों का गठन किया है।