'ताल से ताल मिला' गाने पर कलाकारों ने पेश किया कथक

'ताल से ताल मिला' गाने पर कलाकारों ने पेश किया कथक

भोपाल किर्गिजस्तान के कलाकारों ने जब बॉलीवुड फिल्म ‘ताल’ के गीत 'ताल से ताल मिला' पर मोहक कथक नृत्य प्रस्तुत किया तो जनजातीय सभागार में मौजूद दर्शकों रोमांचित हो उठे। मौका था भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के सहयोग से आदिवासी लोक कला एवं बोली विकास अकादमी द्वारा 'देशान्तर समारोह' में किर्गिजस्तान के कलाकारों की नृत्य एवं संगीत की प्रस्तुतियों का। ताल से ताल मिला गीत पर कलाकारों की प्रस्तुति देखते ही बनती थी। इस पर कलाकारों ने कहा कि किर्गिजस्तान में शाहरुख खान और ऐश्वर्या राय बच्चन बहुत पसंद किए जाते हैं। उनके गानों पर वहां कार्यक्रम में परफॉर्मेंस होती है। इसी कड़ी में उन्होंने इस यहां परफॉर्म किया। समारोह में किर्गिजस्तान के लगभग 13 कलाकारों ने नृत्य एवं संगीत की प्रस्तुतियां की। शुरूआत कलाकारों ने किर्गिजस्तान के 'ओंगु नृत्य' से की। यह नृत्य किर्गिजस्तान का राष्ट्रीय नृत्य है। इस नृत्य में कलाकारों ने देशभक्ति की भावना को दिखाया।

बर्ड डांस किया गया पसंद

कथक नृत्य के बाद कलाकारों ने 'फनी गर्ल डांस' प्रस्तुत किया। इस प्रस्तुति में छोटी लड़की के जीवन को, उसकी लिप्साओं को और उसकी मस्तियों को प्रस्तुत किया गया। फनी गर्ल डांस के बाद कलाकारों ने 'बर्ड डांस' प्रस्तुत किया। इस प्रस्तुति में सांगीतिक धुनों पर कलाकारों ने नृत्य मुद्राएं प्रस्तुत की। यह असल में नृत्य रूप में न होकर मूवमेंट के रूप में किया जाने वाला नृत्य है। बर्ड डांस के बाद कलाकारों ने 'थांग चल पोंग नृत्य' प्रस्तुत किया। यह नृत्य मॉर्निंग स्टार पर केंद्रित नृत्य है। इस नृत्य में मॉर्निंग स्टार से अपनी मनोकामना अनुरूप मन्नत मांगने और पूरी होने पर खुश होने के दृश्य को नृत्याभिनय माध्यम से मंच पर कलाकारों ने प्रस्तुत किया। प्रस्तुति के आखिर में कलाकारों ने कोमोस वाद्य यंत्र की धुनों पर किर्गिज डांस प्रस्तुत करते हुए अपनी नृत्य और संगीत की प्रस्तुति को विराम दिया।