जमाखोरों के ठिकानों पर धावा, 11 लाख की 270 क्विंटल प्याज जब्त

जमाखोरों के ठिकानों पर धावा, 11 लाख की 270 क्विंटल प्याज जब्त

जबलपुर प्याज की आसमान छूती कीमतों से आमजनों की निकल रही आह से बेखबर जिम्मेदार बुधवार को एकाएक हरकत में आ गए। आनन-फानन तरीके से तैयार हुई टीम ने प्याज के दो जमाखोरों के यहां धावा बोला। कृषि उपज मंडी स्थित दोनों व्यापारियों के ठिकानों पर की गई छापामार कार्रवाई में 11 लाख 20 हजार रूपए कीमती 269.79 क्विंटल प्याज जब्त की गई है। औचक तरीके से की गई इस कार्रवाई से दोनों व्यापारियों के यहां हड़कंप की स्थिति रही। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार पिछले दो-तीन दिन में प्याज के दामों में आए भारी उछाल और इनकी कीमत सब्जी मंडियों में 80 रूपए तक पहुंच जाने से आमजनों को हो रही दिक्कतों की जानकारी सामने आने के बाद बुधवार को प्रशासन हरकत में आया। कलेक्टर भरत यादव ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को प्याज की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद आपूर्ति विभाग की टीम ने कृषि उपज मंडी स्थित मेसर्स वीरनलाल मुकेश कुमार तथा मेसर्स हनीफ भाई एंड संस के यहां छापामार कार्रवाई की।

प्रकरण पंजीबद्ध किया

दोनों प्रतिष्ठानों से जब्त प्याज की अनुमानित कीमत 11.20 लाख रुपए बताई जा रही है। दोनों प्रतिष्ठानों के द्वारा मप्र प्याज व्यापारी (स्टाक सीमा तथा जमाखोरी पर निर्बन्धन) आदेश 2019 का उल्लंघन किए जाने के कारण आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर कलेक्टर न्यायालय में पेश किया जा रहा है। जांच की कार्रवाई में सहायक आपूर्ति नियंत्रक संजय खरे, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी संजीव अग्रवाल,रोशनी पाण्डे,पल्लवी जैन एवं सुचिता दुबे शामिल थीं।

जिले भर में हो जांच

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की टीम ने बुधवार को शहर में तो दो व्यापारियों के यहां प्याज जब्ती की कार्रवाई कर ली, लेकिन इससे प्याज के जमाखोरों में ज्यादा फर्क पड़ने वाला नहीं। शहर में व्यापारियों के अन्य ठिकानों पर भी धावा बोलने की जरूरत है, तभी प्याज दनादन बाहर निकलेगी और इसके दामों में गिरावट आएगी। सूत्र बताते हैं कि जिले में व्यापारियों ने मुनाफाखोरी के लिए कई जगह प्याज का स्टॉक कर रखा है। यह स्टॉक बाहर नहीं निकाला जा रहा, जिसके कारण प्याज के भाव आसमान छू रहे हैं।

कहां कितनी प्याज जब्त

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की टीम ने मेसर्स वीरनलाल मुकेशकुमार के यहां पहुंचकर जांच की। जांच में प्रतिष्ठान में स्टाक तथा भाव का बोर्ड प्रदर्शित होना नहीं पाया गया। व्यापारी द्वारा स्टाक एवं बिक्री का लेखा-जोखा का स्टाक रजिस्टर संधारित नहीं किया गया था न ही पाक्षिक विवरणी भेजा जाना पाया गया। इसके बाद व्यापारी के यहा पाई गई 351 बोरियों में भरी 157.95 क्विंटल प्याज को मौके से जब्त कर लिया गया। कार्रवाई के दौरान फर्म के प्रोप्राइटर मुकेश साहू भी मौजूद रहे। इसी प्रकार प्रोप्राइटर रफीक खान की फर्म मेसर्स हनीफ भाई एंड संस की जांच में पाया गया कि प्रतिष्ठान में स्टाक तथा भाव का बोर्ड प्रदर्शित नहीं ह,ै न ही स्टाक रजिस्टर संधारित किया गया है। व्यापारी द्वारा पाक्षिक विवरणी भी प्रेषित नहीं की गई, जिसके चलते मौके पर पाई गई 233 बोरियों में भरी 111.84 क्विंटल प्याज जब्त कर ली गई।