ऑस्ट्रेलिया-पाकिस्तान में होगा विस्फोटक मुकाबला, दोनों टीमें तैयार

ऑस्ट्रेलिया-पाकिस्तान में होगा विस्फोटक मुकाबला, दोनों टीमें तैयार

टांटन। पांच बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया और एक बार के विजेता पाकिस्तान के बीच बुधवार को यहां होने वाले आईसीसी विश्व कप मुकाबले में विस्फोटक संघर्ष होने की पूरी उम्मीद है। ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान ने विश्व कप से पहले पांच वनडे मैचों की सीरीज यूएई में खेली थी जिसे ऑस्ट्रेलिया 5-0 से जीता था। इस आधार पर ऑस्ट्रेलिया इस मैच में जीत के दावेदार के रूप में उतरेगा लेकिन भारत से पिछले मुकाबले में मिली हार के बाद उसे सतर्क रहना होगा। ऑस्ट्रेलिया ने अपने तीन मैचों में अब तक दो मैच जीते हैं और उसके खाते में चार अंक हैं। पाकिस्तान के तीन मैचों में एक जीत, एक हार और एक रद्द परिणाम से तीन अंक हैं। पाकिस्तान ने वेस्ट इंडीज से पहले मुकाबले में मिली हार के बाद शानदार वापसी करते हुए विश्व की नंबर एक टीम और मेजबान इंग्लैंड को 14 रन से हराकर चौंकाया था। पाकिस्तान का श्रीलंका के खिलाफ मुकाबले बारिश के कारण बिना कोई गेंद फेंके रद्द हो गया था। दोनों टीमों के लिए चौथा मैच ख़ासा महत्वपूर्ण है और इस मैच के परिणाम से उनके लिए आगे की दिशा तय होगी। गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को भारत के खिलाफ मिली से झटका लगा है और पाकिस्तान अपने पड़ोसी की जीत से मनोवैज्ञानिक लाभ ले सकता है। भारत ने आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ 352 रन बनाकर चैंपियन टीम को दबाव में ला दिया था जबकि पाकिस्तान ने 348 रन बनाकर इंग्लैंड पर दबाव बनाया था। पाकिस्तान के आलराउंडर मोहम्मद हफीज ने भी कहा है कि उनकी टीम इंग्लैंड पर जीत से मिले आत्मविश्वास को लेकर मौजूदा चैंपियन आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ उतरेगी। हफीज का कहना है कि इस टूर्नामेंट में सभी 10 टीमों को हराया जा सकता है, ऑस्ट्रेलिया बेशक अच्छी क्रिकेट खेल रहा है लेकिन उसे भी हराया जा सकता है। 38 वर्षीय हफीज ने इंग्लैंड के खिलाफ 62 गेंदों पर 84 रन की शानदार मैच विजयी पारी खेली थी। पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने साथ ही कहा कि पाकिस्तान टीम हालांकि आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले 14 मुकाबलों में सिर्फ एक में जीत दर्ज कर सकी है लेकिन टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आक्रामक रवैये के साथ मैदान में उतरेगी।  

बल्लेबाजी क्रम में जरुरत के हिसाब से हो सकता है बदलाव: रिकी पोंटिंग

ऑस्ट्रेलिया के सहायक कोच रिकी पोंंिटग ने कहा कि मौजूदा आईसीसी व्रिच्च्केट विश्व कप में अगर जरूरत हुई तो टीम बल्लेबाजी व्रच्च्म को लेकर अधिक लचीला रवैया अपना सकती है। भारत ने रविवार को शिखर धवन (117) की शतकीय पारी के दम पर पांच विकेट पर 352 रन बनाने के बाद ऑस्ट्रेलिया की पारी को 316 रन पर समेट कर 36 रन से जीत दर्ज की थी। मौजूदा विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया की यह पहली हार है। उस्मान ख्वाजा की जगह स्टीव स्मिथ को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया ताकि वह युजवेन््रद चहल और कुलदीप यादव की भारतीय स्पिन जोड़ी का डटकर सामना कर सके। पोंंिटग ने व्रिच्च्केट डॉट काम डॉट एयू से कहा, ‘‘उन स्पिनरों के खिलाफ हम मैच में बायें और दायें हाथ के बल्लेबाजों के साथ बने रहना चहते थे और स्मिथ दुनिया के किसी अन्य बल्लेबाज की तरह शानदार तरीके से स्पिन के खिलाफ खेलते है। इसका यहीं एक कारण था। पोंंिटग ने कहा कि फिंच और वॉर्नर दुनिया के किसी अन्य सलामी बल्लेबाज की तरह बेहतरीन हैं।