परिवार नियोजन सामग्री कुएं तक कैसे पहुंची, पता लगाने के लिए की जाएगी बैक ट्रैकिंग

परिवार नियोजन सामग्री कुएं तक कैसे पहुंची, पता लगाने के लिए की जाएगी बैक ट्रैकिंग

इंदौर इंदौर के जिला अस्पताल में बीते दिनों एक कुएं में पाई गई परिवार नियोजन की सामग्री के मामले में चार सदस्सीय कमेटी गठित हो गई है। यह कमेटी शनिवार को भोपाल से जिला अस्पताल जांच के लिए आएगी। नोडल अधिकारी विजय छजलानी ने बताया कि चार लोगों की टीम शनिवार को इंदौर आएगी। इस मामले में शुक्रवार को राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन (नाको) के डिप्टी डायरेक्टर प्रशांत मलैया भोपाल से इंदौर पहुंचे। डिप्टी डायरेक्टर की मौजूदगी में सामग्री को कुएं से निकाल लिया गया है। बैक ट्रैकिंग कराई जा रही है, जिससे यह पता चल सकेगा कि सामग्री कहां से आई और कहां तक पहुंची। अंतिम सिरे तक पूरी जांच होगी।

दोषियों पर कार्रवाई होगी

सूत्रों के मुताबिक परिवार नियोजन सामग्री को इस तरह से फेंकने के मामले में जो भी एनजीओ दोषी पाया जाता है, उससे वसूली हो सकती है और यदि मामला और गंभीर होता है तो एनजीओ का काम निरस्त किया जा सकता है। गौरतलब है कि इस मामले में एक दिन पहले तक अफसर एक दूसरे पर जिम्मेदारी डाल रहे थे।