भोपाल की सीमाएं सील, बिना जांच के बाहरी लोग नहीं कर सकेंगे प्रवेश

भोपाल की सीमाएं सील, बिना जांच के बाहरी लोग नहीं कर सकेंगे प्रवेश

भोपाल  । कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए भोपाल जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं। अब आसपास के जिलों से यहां न तो कोई आ सकेगा और न ही कोई जा सकेगा। अत्यावश्यक होने पर जिस व्यक्ति को शहर में प्रवेश दिया जाएगा, उसे पहले 14 दिन के क्वारेंटाइन में रखा जाएगा। उसे यह क्वारेंटाइन पीरियड या तो घर में बिताना होगा या फिर सरकार द्वारा क्वारेंटाइन के लिए बनाए जा रहे सेंटरों में रहना होगा। सीहोर की तरफ से आने वाले लोगों में से सिर्फ भोपाल के रहवासियों को ही प्रवेश दिया जाएगा। कलेक्टर तरुण पिथौड़े ने इस संबंध में सोमवार को आदेश जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा है कि पुलिस और प्रशासन की संयुक्त टीमों द्वारा भोपाल के आसपास के जिलों की सीमाएं सील की गई हैं।

यहां किए जाएंगे क्वारेंटाइन

जिले में जो भी व्यक्ति प्रवेश करेगा, उसे तत्काल क्वारेंटाइन में भेज दिया जाएगा। समयसीमा खत्म होने के बाद ही शहर में प्रवेश मिलेगा। इसके लिए शहर के धर्मशाला, सामुदायिक भवन में क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं। यहां संबंधित का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा और निगरानी की जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि जिला प्रशासन ने सारे इंतजाम कर लिए हैं। जिला प्रशासन ने सभी शादी हॉल, मैरिज गार्डन और सामुदायिक भवनों का पहले ही अधिग्रहण कर लिया है। यहां पर साफ-सफाई, टॉयलेट, पीने का पानी आदि की व्यवस्था की गई है। इसके निर्देश संचालकों को दिए गए है। 

इन चेक पोस्ट को किया सील

1. ललरिया चेक पोस्ट, बैरसिया 2. सोहाया चेक पोस्ट, बैरसिया 3. विदिशा-भोपाल चेक पोस्ट 4. रामपुरा बालाचोन चेक पोस्ट बैरसिया 5. सीहोर-भोपाल पार्वती चेक पोस्ट

यहां होगी सघन जांच

सीहोर की तरफ से भोपाल आने वाले समस्त वाहनों की सघनता से जांच की जाएगी। यहां से केवल भोपाल के निवासियों को ही प्रवेश दिया जाएगा।

सिर्फ इन्हें मिलेगा प्रवेश

भोपाल से दूसरे जिलों में जाने के लिए पास बनाने के नियमों में भी बदलाव कर दिया गया है। वहीं अत्यावश्यक होने पर ही बाहर से लोगों को सीमा में प्रवेश दिया जाएगा। इतना ही नहीं, किसी परिजन की मृत्यु होने पर या मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति में ही पास जारी किया जाएगा। इनको छोड़कर अन्य तरह के पास जारी करने का आदेश निरस्त कर दिया गया है।