भोपाल उत्तर, मध्य को छोड़कर सभी जगह हारी कांग्रेस

भोपाल उत्तर, मध्य को छोड़कर सभी जगह हारी कांग्रेस

भोपाल  भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को 3 लाख 64 हजार 822 वोटों से हरा दिया। सुबह मतगणना शुरू होने के बाद पहले ही राउंड से साध्वी की बढ़त का जो सिलसिला शुरू हुआ, वह अंतिम राउंड तक जारी रहा। दिग्विजय सिंह को केवल दो विधानसभा क्षेत्रों भोपाल उत्तर और भोपाल मध्य से ही भाजपा से अधिक वोट मिले। बाकी छह विधानसभा क्षेत्रों- हुजूर, बैरसिया, गोविंदपुरा, नरेला, दक्षिण पश्चिम और सीहोर से उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा। इधर, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की जीत में महिला वोटरों की भूमिका महत्वपूर्ण रही। भोपाल लोस सीट के लिए कुल 6.44 लाख महिलाओं ने वोट डाले। इनमें से करीब साढ़े चार लाख महिलाओं ने साध्वी को वोट दिया। मतगणना रात 11 बजे समाप्त होने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सुदाम पी खाडे ने साध्वी प्रज्ञा को जीत का प्रमाण पत्र प्रदान किया।

गोडसे का नारा लगाने पर भिड़े भाजपाकांग्रेस के एजेंट

दोपहर साढ़े तीन बजे साध्वी प्रज्ञा भोपाल मध्य विस क्षेत्र के मतगणना हॉल में पहुंचीं, तो भाजपा कार्यकर्ताओं ने मोदी, साध्वी जिंदाबाद के नारे लगाए। इस बीच भाजपा के एक एजेंट राजेंद्र गुप्ता ने नाथूराम गोडसे जिंदाबाद का नारा लगा दिया। कांग्रेस एजेंट ने भी महात्मा गांधी जिंदाबाद का नारा लगाया। इस पर दोनों मेें हाथापाई शुरू हो गई।

आलोक संजर के जीत के अंतर को नहीं छू सकीं साध्वी

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में आलोक संजर के जीत के अंतर को छू नहीं सकीं। आलोक संजर को पिछले लोकसभा चुनाव में 3 लाख 70 हजार 696 वोटों से जीत मिली थी, लेकिन 2019 में साध्वी प्रज्ञा को 3 लाख 64 हजार 822 वोटों के अंतर से ही जीत मिल सकी। हालांकि दिग्विजय सिंह की यह सबसे बड़ी हार जरूर हो गई है।