नहर भंडारा व सीपी शेखर नगर एसटीपी से होगा 10-10 एमएलडी पानी फिल्टर

नहर भंडारा व सीपी शेखर नगर एसटीपी से होगा 10-10 एमएलडी पानी फिल्टर

इंदौर। कभी शहर की जीवन रेखा रही कान्ह नदी का सौंदर्य वापस लौटाने की पहल की जा रही है। पांच साल की कार्ययोजना बनाकर एकीकृत प्लान बनाया गया है, जिसमें 11 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) बनाकर सीवरेज के पानी को साफ किया जाएगा। यह पानी कान्ह नदी में छोड़ा जाएगा। यह बी ग्रेड का होगा, जिसे शहरवासी इस्तेमाल भी कर सकेंगे। रविवार को नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे ने नहर भंडारा व सीपी शेखर नगर के एसटीपी तथा जयरामपुर कॉलोनी में चल रहे नाला टैपिंग के कार्य देखे। इस दौरे में निगम कमिश्नर आशीष सिंह, अपर आयुक्त संदीप सोनी तथा अधीक्षण यंत्री सुनील गुप्ता भी शामिल थे। लगातार हो रही है मॉनिटरिंग- कान्ह नदी के शुद्धिकरण और सौंदर्यीकरण को लेकर सरकार करोड़ों रुपया खर्च कर चुकी है, लेकिन अभी भी पुराने स्वरूप में नहीं लौटी है। कान्ह नदी को पुनर्जीवित करने के लिए जिस तरह से काम चल रहा है, सरकार की तरफ से लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है।

नाला टैपिंग का कार्य पूरा होने में लगेगा एक माह

इसके बाद जयरामपुर कॉलोनी का नाला देखा। यहां से कान्ह नदी गुजर रही है। इस नाले में मिलने वाले गंदे पानी को रोकने के लिए नाला टैपिंग का कार्य चल रहा है। इसके बारे में दुबे ने जानकारी हासिल की। अधीक्षण यंत्री सुनील गुप्ता ने बताया कि नाला टैपिंग का कार्य एक माह में पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद सीपी शेखर नगर में लगे एसटीपी और इसी परिसर में बन रहे उद्यान को देखने पहुंचे।