चिदंबरम बोले-74 साल का हूं, नजरबंद कर दें, SC ने कहा- तिहाड़ नहीं भेजेंगे

चिदंबरम बोले-74 साल का हूं, नजरबंद कर दें, SC ने कहा- तिहाड़ नहीं भेजेंगे

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कांग्रेस नेता पी चिदंबरम से कहा कि वह अंतरिम राहत के लिए संबंधित अदालत में जाएं चिदंबरम ने कोर्ट से कहा कि उनकी उम्र 74 साल है, उन्हें नजरबंद कर दिया जाए। इससे किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। इस पर कोर्ट ने कहा कि उन्हें तिहाड़ जेल नहीं भेजा जाएगा। चिदंबरम ने दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। वहीं सीबीआई की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सीबीआई हिरासत की मियाद कल खत्म हो जाएगी और ऐसे में निचली अदालत चिदंबरम को रिमांड पर नहीं भेज पाएगी। उन्होंने संबंधित आदेश को अपलोड न करने का न्यायालय से आग्रह किया। इसके बाद न्यायालय ने मंगलवार दोपहर दो बजे फिर से इसकी सुनवाई करने का निर्णय लिया।

ईडी ने पूछताछ के लिए कोर्ट से चिदंबरम, कार्ति की हिरासत मांगी

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली की एक अदालत में एयरसेल- मैक्सिस घोटाले से संबंधित मामलों में चिदंबरम और उनके पुत्र कार्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ किए जाने की मांग की। जांच एजेंसियों ने कहा कि वे जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। जांच एजेंसियों ने आरोप लगाया कि चिदंबरम ने यूपीए सरकार के दौरान अपने अधिकार क्षेत्र से आगे जाकर एयरसेल-मैक्सिस सौदे को मंजूरी प्रदान की जिससे कुछ लोगों को लाभ पहुंचा और रिश्वत ली गई।