6 लाख सितारों और 12 हजार सुनहरी गोटे से सजी चुनरी माता को अर्पित

6 लाख सितारों और 12 हजार सुनहरी गोटे से सजी चुनरी माता को अर्पित

इंदौर ।    बीते नौ वर्षों की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए इस वर्ष भी नवरात्र के पर्व के दुर्गाष्टमी के दिन बड़ा गणपति से भव्य चुनरी यात्रा निकली। बिजासन माता मंदिर तक निकाली गई इस चुनरी यात्रा के जरिये ‘प्लास्टिक मुक्त भारत’ का संकल्प भी लोगों को दिलाया गया। लगभग दो किमी लंबी इस चुनरी यात्रा में हजारों श्रद्धालु शामिल हुए। यात्रा शुरू होते ही मातारानी की अगवानी के लिए इंद्र भी चले आए और चुनरी यात्रा का स्वागत किया। 15 मिनट हुई बारिश का यात्रा पर असर नहीं पड़ा। समापन स्थल बिजासन मंदिर पर माता को दो किमी लंबी चुनरी अर्पित की गई। यात्रा में बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा तथा सांसद हेमामालिनी सहित कई हस्तियां हिस्सा लेने वाली थीं, लेकिन अपनी व्यस्तताओं के कारण इंदौर नहीं आए। मां के जयकारों से गूंजा पश्चिम क्षेत्र रविवार को पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता के नेतृत्व में बड़ा गणपति से निकली 6 लाख सितारों से सजी चुनरी को हजारों श्रद्धालु अपने हाथें में थामकर बिजासन माता के मंदिर तक ले गए। इस चुनरी को शहर की महिलाओं ने साढ़े 12 हजार फीट सुनहरी गोटे से सजाया था। हजारों लोगों का सैलाब मां के जयकारे लगाता हुआ आगे बढ़ रहा था जो अपने आप में देखने लायक दृश्य था। दोपहर 12 बजे बड़ा गणपति मंदिर पर पूजा- अर्चना के बाद यात्रा शुरू की गई। इसमें शहर के कई बड़े नेता भी शामिल थे। चुनरी यात्रा में जेपी नड्डा, सांसद हेमामालिनी, केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर, पूर्व सीएम शिवराजसिंह चौहान, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह समेत कई विशिष्टजन नहीं आए।

केंद्रीय मंत्री गहलोत और स्थानीय राजनेताओं ने की भागीदारी - यात्रा पीलिया खाल, अग्रसेन नगर, रामचंद्र नगर चौराहा, कालानी नगर चौराहा, विद्याधाम मंदिर होते हुए एयरपोर्ट थाने के सामने पहुंची। यहां पर यात्रा में शामिल श्रद्धालुओं को केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गेहलोत, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, सासंद शंकर लालवानी, सांसद महेंद्रसिंह सोलंकी, नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, पूर्व महापौर उमाशशि शर्मा सहित वरिष्ठ नेताओं ने ‘प्लास्टिक मुक्त भारत’ का संकल्प दिलाया।

ट्रैफिक व्यवस्था के लिए तैनात थे कार्यकर्ता- यात्रा संयोजक सुदर्शन गुप्ता ने बताया कि चुनरी यात्रा के दौरान यातायात और साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखा गया। एरोड्रम रोड पर डिवाइडर के एक तरफ यात्रा निकल रही थी तो दूसरा हिस्सा यातायात के लिए खुला रखा गया था। यातायात बाधित न हो इसके लिए भाजपा कार्यकर्ता भी तैनात किए गए थे। यही नहीं, निगम सभापति अजयसिंह नरुका के नेतृत्व में स्वयंसेवक यात्रा के पीछे सड़क की सफाई करते हुए चल रहे थे।