डांस थियेटर पर असमंजस, मीटिंग में होगा फैसला

डांस थियेटर पर असमंजस, मीटिंग में होगा फैसला

ग्वालियर। ऐतिहासिक ग्वालियर व्यापार मेले में इस बार थियेटर नजर आ सकते हैं, व्यापारियों की मांग पर प्राधिकरण सालों बाद एक बार फिर से डांस थियेटर लगाने पर गंभीरता से विचार कर रहा है। प्राधिकरण को यह तो मालुम है इससे उनका राजस्व बढ़ेगा लेकिन माहौल खराब होने का खतरा उठाने के लिए प्राधिकरण तैयार नहीं है। इसीलिए प्रशासनिक अफसरों के साथ 2 दिसंबर को एक मीटिंग होगी उसमें सबकुछ तय किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक इससे पूर्व करीब 14 साल पहले इन डांस थियेटर को अश्लीलता की शिकायत पर तत्कालीन एसपी ने प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष राजचड्ढा के समय पर बंद कराया था। इन थियेटर के खिलाफ हिंदु संगठनों ने विरोध प्रदर्शन भी किया था, ऐसे में अगर एक बार फिर से अगर प्राधिकरण मेले में थियेटर को हरी झंडी देता है निश्चित ही मेले का माहौल बिगडने का खतरा मंडरा रहा है। थियेटर के साथ-साथ इस मेले में नॉनवेज का अलग से सेक्टर बनाए जाने की भी चर्चा है। इन दुकानों को लेकर भी कुछ दुकानदारों से प्राधिकरण में आवेदन दिए है, लेकिन पदाधिकारी साफसाफ इससे इंकार कर रहे हैं कि अलग से नॉनवेज को कोई सेक्टर नहीं बनाया जाएगा।

घोषणा नहीं तो नहीं जाएगा आटोमोबाइल सेक्टर

गत वर्ष आरटीओ रजिस्ट्रेशन में छूट घोषण के बाद आनन-फानन में मेले में वाहन शोरूम लगाने वाले आटोमोबाइल कारोबारी भी आरटीओ रजिस्ट्रेशन की छूट की घोषणा पर निगाहे टिकाए हुए हैं। अगर घोषणा नहीं होती है तो करोबारी यहां पर अपने शोरूम नहीं लगाएंगे वह साफ-साफ कह रहे है कि छूट की घोषणा हुई तभी शोरूम लगाएंगे यही वजह सहै कि कारोबारियों ने यहां पर दुकाने के लिए केवल आवेदन दिए है, लेकिन ना तो पैसा जमा कराया और ना ही दुकाने एलॉट कराई हैं। आरटीओ रजिस्ट्रेशन की छूट में 50 फीसदी की छूट की घोषणा होने पर निश्चित ही ग्राहकों को फायदा होने के साथ-साथ मेला प्राधिकरण के साथ ही कारोबारियों की सेल पर अच्छा खास इजाफा होता है। यही नहीं यहां के मेले का इतिहास देखते हुए विश्व प्रसिद्ध कंपनी आडी व वोल्वो जैसी कंपनियों ने अपनी रूचि दिखाते हुए प्राधिकरण से संपर्क किया था और प्राधिकरण के पदाधिकारी भी इस बार आटोमोबाइल का बाजार 500 करोड़ रुपए होने की उम्मीद लगा रहे थे। व्यापार मेले में आरटीओ रजिस्ट्रेशन की छूट को लेकर पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी सीएम कमलनाथ को पत्र लिख चुके हैं।

प्रशासन के साथ बैठक 2 दिसंबर को

हालांकि मेला प्राधिकरण के पदाधिकारी मेले को भव्यता देने के लिए प्रयास करे हैं और एक बार फिर से ग्वालियर व्यापार मेला अपनी नई ऊचाईयों को छुए। इसके लिए नए-नए प्रयोग भी करने के प्रयास किए जा रहे है मेले की तैयारियों को लेकर प्राधिकरण दो दिसंबर को प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक करने जा रहे हैं।