कॉमनवेल्थ गेम्स में 24 साल बाद क्रिकेट की वापसी, महिला टी-20 की 8 टीमें लेंगी हिस्सा

कॉमनवेल्थ गेम्स में 24 साल बाद क्रिकेट की वापसी, महिला टी-20 की 8 टीमें लेंगी हिस्सा

लंदन। इंग्लैंड के बर्मिंघम में वर्ष 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में महिला क्रिकेट को शामिल करने का फैसला किया गया है। इससे पहले वर्ष 1998 में राष्ट्रमंडल खेलों में क्रिकेट को शामिल किया गया था, लेकिन उस वक्त पुरुषों की टीम ने इसमें हिस्सा लिया था और दक्षिण अफ्रीका ने इस स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था। अगले कॉमनवेल्थ गेम्स में 8 टीमें भारत, पाकिस्तान, इंग्लैंड, द. अफ्रीका, आॅस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज, श्रीलंका हिस्सा लेंगी। क्रिकेट को लॉस एंजेलिस में 2028 में होने वाले ओलंपिक खेलों में शामिल करने के प्रयास भी चल रहे हैं। वर्ष 1998 में कुआलालम्पुर में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में क्रिकेट 50 ओवर के प्रारूप में कराया गया था, लेकिन बर्मिंघम में इसे ट्वंटी-20 के रूप में कराया जाएगा। उल्लेखनीय है कि बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेल 27 जुलाई से सात अगस्त 2022 तक चलेंगे। इस दौरान क्रिकेट के सभी मैच एजबस्टन में कराए जाएंगे। राष्ट्रमंडल खेल संघ के अध्यक्ष डेम लुइस मार्टिन ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है और हम क्रिकेट का एक बार फिर राष्ट्रमंडल खेलों में स्वागत करते हैं।

1998 में खेले थे सचिन, पोंटिंग, कैलिस जैसे धुरंदर खिलाड़ी

वर्ष 1998 के राष्ट्रमंडल खेलों में कुआलालम्पुर में खेले गए आखिरी क्रिकेट टूर्नामेंट में रिकी पोटिंग, जैक्स कैलिस और सचिन तेंदुलकर जैसे महान खिलाड़ी भी शामिल थे। मार्टिन ने उन्होंने कहा कि हमें मानते हैं कि महिला क्रिकेट को विश्व भर में बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रमंडल खेल एक बेहतरीन साधन है। हम इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट संघ (आईसीसी) को धन्यवाद देते हैं जिन्होंने इस खेल को राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल कराने के लिए काफी मेहनत की है।

महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए बड़ा कदम साबित होगा

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनु साहनी ने कहा कि आईसीसी इस फैसले का स्वागत करती है। हमें उम्मीद है कि यह निर्णय महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए बड़ा कदम साबित होगा। यह वाकई महिला क्रिकेट और क्रिकेट समुदाय के लिए ऐतिहासिक दिन है। साहनी ने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों के लिए ट्वंटी-20 प्रारूप सबसे उपयुक्त है। सभी खिलाड़ी जो इन खेलों में शामिल होंगे उनके लिए यह एक अच्छा अनुभव होगा। महिला क्रिकेट लगातार तेजी से बढ़ रहा है और हम राष्ट्रमंडल खेल महासंघ को महिला क्रिकेट को राष्ट्रमंडल खेल में शामिल करने के लिए धन्यवाद देते हैं।

ओलंपिक में क्रिकेट के शामिल होने की उम्मीद

दूसरी ओर, आईसीसी ने लॉस एंजिल्स में होने वाले 2028 ओलंपिक में क्रिकेट के शामिल होने की उम्मीद जताई है। आईसीसी खुद इसके लिए प्रयास कर रहा है। सोमवार को मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के चेयरमैन माइक गैटिंग ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चार साल में होने वाले ओलिंपिक में क्रिकेट को शामिल करना आईसीसी के लिए मुश्किल नहीं होगा।

क्रिकेट को शामिल करने में परेशानी नहीं होगी

आईसीसी के नए कार्यकारी अधिकारी मनु साहनी के हवाले से गैटिंग ने कहा कि ओलिंपिक आयोजन की समयावधि करीब दो हμते होती है, इसलिए मुझे नहीं लगता कि आईसीसी को इसके लिए कुछ परेशानी होगी। चार साल में एक बार ही दो सप्ताह का शेड्यूल बनाना होगा। ओलिंपिक में यदि क्रिकेट को शामिल किया जाता है तो इस खेल को वैश्विक स्तर पर पहचान मिलेगी, जिससे इस खेल को बढ़ावा मिलेगा।