छुट्टी के दिन केरवा-कलियासोत डैम देखने उमड़ी भीड़, हर तरफ जाम

छुट्टी के दिन केरवा-कलियासोत डैम देखने उमड़ी भीड़, हर तरफ जाम

भोपाल ।  रिमझिम बारिश के बीच रविवार की छुट्टी का आनंद लेने के लिए सैकड़ों लोग परिवार समेत केरवा और कलियासोत डैम का नजारा देखने पहुंचे। नतीजा-दोपहर बाद इस इलाके में भीड़ इतनी ज्यादा हो गई की जाम लग गया। पुलिसकर्मियों को जाम ख्ुालवाने मेें घंटों लग गए। धारा 144 लागू होने के कारण पुलिस ने शाम 7.30 बजे तक पूरे इलाके को खाली करवा लिया था। करीब तीन साल बाद यह पहली बार था कि रविवार के दिन केरवा और कलियासोत डेम के गेट खुले। ऐसे में सुबह से ही भीड़ पहुंचना शुरू हो गई थी। दोपहर बाद भीड़ बढ़ने के कारण भदभदा पुल से साक्षी ढाबा रातीबड़, चूनाभट्टी चौराहे से कलिया सोत रोड, तेरह शटर गेट, जागरण लेकसिटी, एक्सीलेंस कॉलेज के आसपास का इलाका पूरी तरह जाम हो गया।

अधिकारियों की भी तैनाती'

भीड़ को देखते हुए यहां पर 100 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था। ट्रैफिक पुलिस ने केरवा और कलियासोत के दोनों छोर पर एक-एक डीएसपी, दो-दो इंस्पेक्टर, चार-चार सब इंस्पेक्टर , सूबेदारों के अलावा 20-20 जवानों को ट्रैफिक व्यवस्था में लगाया गया था। तीन थानों के अलावा डीआरपी लाइन से भी बल तैनात किया गया था।

घंटों जाम में फंसे रहे वाहन

रातीबड़ रोड और कलियासोत इलाके में सड़क संकरी होने से चार पहिया वाहन फंस गए। शाम 7 बजे के बाद धारा 144 लागू होने के कारण पुलिस को शाम साढे छह बजे से ही एनांउस कर लोगों को जाने के लिए कहना पड़ा।

वीआईपी रोड पर भी जाम

इधर, शाम को बड़े तालाब का नजारा देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग वीआइपी रोड पर पहुंच गए। लोगों ने अपने वाहन सड़क पर ही खड़े कर दिए। इससे शाम चार बजे के बाद यहां जाम लग गया।

राजधानी में बारिश का दौर जारी; 33 घंटे में 36 मिली मीटर पानी गिरा

भोपाल। राजधानी में शुक्रवार से शुरू हुआ बारिश का दौर रविवार को भी जारी रहा। दिनभर रुक-रुककर कभी तेज तो कभी धीमी बारिश होती रही। मौसम विभाग के अनुसार, पिछले 33 घंटे में भोपाल में 36.4 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गई। सुबह से ही बारिश का दौर शुरू हो गया था। सुबह के समय बारिश की गति कुछ तेज रही, लेकिन बाद में कभी हल्की तो कभी मध्यम बारिश होती रही। इधर, लगातार हो रही बारिश से राजधानी में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। सड़कों में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं और उनमें पानी भरने से हादसे का खतरा बढ़ गया है। इन गड्ढों की वजह से आए दिन वाहन चालक फिसलकर गिर रहे हैं। वहीं निचले इलाकों में पानी जमा होने से लोगों की दिनचर्या प्रभावित हुई है। मौसम विभाग के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान बैरागढ़ आॅब्जर्वेटरी में 29.2 मिमी बारिश रिकार्ड की गई,जबकि सुबह से शाम 5.30 बजे तक 7.2 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई।

सिस्टम पड़ा कमजोर, सोमवार के बाद खिल सकती है धूप

मौसम विशेषज्ञ उदय सरवटे के अनुसार ओडिशा के कोस्टल एरिया में बना सिस्टम नार्थ-ईस्ट मप्र पर है। इससे अच्छी बारिश की उम्मीद थी, लेकिन यह कमजोर हो गया है। अब राजधानी में भारी बारिश के आसार कम है। हालांकि नमी भारी मात्रा में मिल रही है, इससे रुकरुककर बारिश जारी रहेगी। सरवटे के अनुसार सोमवार से या मंगलवार से दिन में धूप खिल सकती है।

तीन दिन बाद एक और सिस्टम एक्टिव होने की संभावना

मौसम विभाग के अनुसार, तीन दिन बाद एक और सिस्टम एक्टिव होने जा रहा है। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। यह 28 अगस्त तक बनेगा। इस सिस्टम के एक्टिव होने से फिर बारिश का दौर शुरू हो सकता है।