साइक्लोनिक सकुर्लेशन से झमाझम 24 घंटे में 95 शाम को 25 एमएम बारिश

साइक्लोनिक सकुर्लेशन से झमाझम 24 घंटे में 95 शाम को 25 एमएम बारिश

ग्वालियर। पूर्वी उत्तर प्रदेश में बने साइक्लोनिक सकुर्लेशन के अचानक पश्चिमी मध्यप्रदेश में सक्रिय हो जाने से शनिवार और रविवार को शहरं झमाझम बारिश हुई। सन-डे का अवकाश होने के कारण लोग फन-डे का लुफ्त लेने से नहीं चूके। तिघरा जलाशय पर काफी संख्या में सैलानी पहुंचे किसी ने बोट में बैठकर जलाशय की सैर की तो कोई पानी में कुलांचे भरते हुए मौज करते देखे गए। तिघरा के अलावा ककैटो डैम और किले पर भी काफी संख्या में सैलानी पहुंचे हैं। उधर बारिश के चलते कई इलाकों में जलभराव की स्थिति भी देखने को मिली।

अब तक 100.7 एमएम बारिश कम

मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार रात्रि 8.30 बजे तक 70 एमएम बारिश हो चुकी थी। रविवार को अलसुबह रिमझिम हुई और फिर अपरान्ह तीन बजे करीब 20 मिनट तक झमाझम होती रही। इस दौरान शाम 5.30 बजे तक 25.3 मिलीमीटर रिकार्ड की है। इस सीजन में अब तक ग्वालियर शहर में 527.0 मिली मीटर वर्षा हो चुकी है, अब भी 236.3 मिमी वर्षा की दरकार है। मौसम विभाग के अनुसार आगामी 24 घंटों के दौरान ग्वालियर-चंबल संभाग में तेज वर्षा की संभावना है। उल्लेखनीय है कि 25 अगस्त 19 तक 576.8 मिमी मीटर वर्षा होनी थी, जो इस वर्ष अब तक 75.1 मिमी वर्षा कम हुई है। सन् 2018 में 25 अगस्त तक 627.7 मिमी हुई है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 25 अगस्त तक 100.7 मिमीमीटर कम हुई है। ग्वालियर जिले की औसत बारिश 790.6 मिली मीटर है, अभी ग्वालियर शहर को 263 मिमी वर्षा की दरकार और है। रविवार को मौसम विभाग ने अधिकतम तापमान 29.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ जो सामान्य से 3.1 डिग्री सेल्सियस कम था व न्यूनतम तापमान 23.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से 1.6 डिग्री सेल्सियस कम था।