ड्राइंग में दिखा डेवलपमेंट के नाम पर नेचर का विनाश

ड्राइंग में दिखा डेवलपमेंट के नाम पर नेचर का विनाश

भोपाल ।  शाहपुरा स्थित आर्ट गैलरी में इन दिनों बसंत भार्गव की 'लाइंस आॅफ अ सिटी' विषय पर एग्जीबिशन लगाई गई है। कुल 24 ड्राइंग के जरिए उन्होंने प्रकृति और उसके पास के परिवेश जिनमे गांव,कस्बा और शहर के जीवन में रची बसी छवि को उकेरा है। बसंत ने बताया कि अक्सर बस, टेन या हवाई यात्रा में दृष्टि में सहज रूप से एक इमेज बनाती है। फिर उसी इमेज का विस्तार चित्र या रेखांकन होता है। क्योंकि मेरे दृश्य चित्र किसी स्थान विशेष पर बैठ कर एक समय में बनाए गए नहीं होते।

जो भी देखता हूं उसे कैनवास पर उतार देता हूं

बसंत भार्गव ने बताया कि ‘मैं जब यात्रा के दौरान ट्रैन की खिड़की से किसी पूरे शहर को कुछ ही मिनटों में जितना भी नजर आता है वह कैनवास पर उतारने की कोशिश करता हूं। जब भी किसी दृश्य देख लेता हूं तब मन करता है मैं उसे ड्राइंग के माध्यम से बनने की कोशिश करता हूं। इन चित्रों में कई शहर हैं, कस्बों और इलाकों में कई मंजिला इमारतें भी हैं। मैंने कुछ ड्राइंग में कम होते जंगल, बढ़ता कांक्रीट, फ्लाईओवर और तकनीकें भी दिखाने की कोशिश की है। हम कैसे प्रोग्रेस और डेवलपमेंट के नाम पर गांव, जंगल की खूबसूरती और हरियाली को नष्ट करते जा रहे हैं। हम प्रकृति से खिलवाड़ कर रहे हैं, वह भी प्राकृतिक आपदा के रुप में अपना रूप अवश्य दिखाएगी।