चूजों का उत्पादन बंद होने से पोल्ट्री उद्योग को नुकसान

चूजों का उत्पादन बंद होने से पोल्ट्री उद्योग को नुकसान

नई दिल्ली  । देश में कोरोना वायरस (कोविड- 19) के बढ़ते हुए प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन के कारण चूजों के उत्पादन के लगभग बंद होने से पोल्ट्री उद्योग को भारी नुकसान हो रहा है। इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए यातायात के साधनों पर लगाई गई रोक के कारण अधिकांश स्थानों पर हैचिंग का काम रोक दिया गया है और अंडों के भंडारण पर जोर दिया जा रहा है। इतना ही नहीं सरकारी संस्थानों में किसानों के प्रशिक्षण कार्यक्रमों को भी रोक दिया गया है।  

उद्योग की कमर टूटी

पिछले दिनों कोरोना वायरस को लेकर फैलाई गयी अफवाह के कारण चिकन की थोक कीमत धराशाई हो गई थीं और लोग 15 रुपए किलो भी लेने को तैयार नहीं हो रहे थे।