ईकोग्रीन कर्मचारियों ने बायोमैट्रिक हाजिरी को लेकर किया हंगामा

ईकोग्रीन कर्मचारियों ने बायोमैट्रिक हाजिरी को लेकर किया हंगामा

ग्वालियर। भले ही नगर निगम द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के लिए कमर कस खड़े होने की शुरूआत की जा रही हो, लेकिन सफाई कार्य करने का ठेका लेने वाली फर्म ईकोग्रीन की व्यवस्था फेल होती नजर आ रही है। हालात यह है कि बीते दो दिन से जारी सफाई कर्मचारियों की हड़ताल करने वाले कर्मचारियों ने बायोमैट्रिक हाजिरी को लेकर हंगामा किया। जिसके बाद मान- मनौव्वल के दौर में कुछ स्थानों पर हड़ताल समाप्त करवाने में सफलता मिली। गुरूवार को कचरा प्रबंधन से जुड़े नारायण विहार कॉलोनी व मेला ग्राउण्ड स्थित कचरा कलेक्शन सेंटर के टिपर वाहन चालक, सुपरवाईजरों ने हड़ताल कर प्रर्दशन जारी रखा। जिसके चलते पूरे शहर में सुबह से दोपहर तक कचरा कलेक्शन का कार्य शुरू नहीं हो सका और दोपहर तक मुख्य सड़कों के साथ बाजारों, रहवासी क्षेत्रों में कचरे के ढेर देखे गए। जिस पर नारायण विहार में उपद्रव कर रहे वाहन चालकों का आरोप था कि हमसे बायोमैट्रिक हाजिरी लगवाई जा रही है। इससे परेशानी होती है। कई बार कचरा उठाने के चलते अंगूठे के निशान मशीन पर नहीं आ पाते और काम करने के बावजूद अनुपस्थिति लग जाती है। जिम्मेदार अधिकारियों का कहना था कि यह आरोप निराधार हैं। जो लोग आरोप लगा रहे हैं, वह नेताओं की सिफारिश पर कंपनी में काम पर लगे हैं। इन्हीं लोगों द्वारा बार-बार हड़ताल की जा रही है। बार-बार हड़ताल से परेशान होकर ईकोग्रीन प्रबंधन ने कड़ी कार्रवाई का मन बना लिया है।

आधे शहर में सफाई व्यवस्था शुरू, आधे में ठप

निगम सीमा में कचरा प्रबंधन की जिम्मेदारी लिए ईकोग्रीन कंपनी के विरोध के चलते हुए मान-मनौव्वल के चलते दोपहर बाद तक आधे शहर में कर्मचारी हड़ताल वापसी के लिए मान गए और उन्होंने देर शाम तक साफ सफाई की, लेकिन बीते दो दिन से कचरा न उठने के चलते मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के विधानसभा के क्षेत्र क्रमांक 12,16,17,31 व 32 में अभी कचरा प्रबंधन शुरू नहीं हो सका।