कश्मीर में शांतिपूर्ण रही ईद, लेकिन त्योहार की रौनक गायब

कश्मीर में शांतिपूर्ण रही ईद, लेकिन त्योहार की रौनक गायब

श्रीनगर। ईद-उल-अजहा पर कश्मीर में लोगों ने आसपास की मस्जिदों में ही नमाज अदा की, कयोंकि अफसरों ने यहां कड़ी पाबंदी लगा रखी है। शहर और गांवों में सुरक्षाबल तैनात हैं। लोगों की आवाजाही के साथ ही बड़े मैदानों में जुटने पर भी पाबंदी है। प्रमुख सचिव रोहित कंसल ने बताया कि 90% स्थानों पर ईद का जश्न मनाया गया।

पुलिस के सायरन, हेलिकॉप्टर तोड़ रहे सन्नाटा

सोमवार को कश्मीरियों की सुबह सुरक्षाबलों की हिदायत के साथ हुई। त्योहार की चकाचौंध सड़कों से गायब है। चारों तरफ सन्नाटा है, जिसे तोड़ा भी तो पुलिस के सायरन और एयरफोर्स के हेलिकॉप्टरों की आवाज ने...। जवान लोगों को घरों के अंदर रहने की हिदायत दे रहे हैं। ईदगाह मैदान, हजरतबल दरगाह, टीआरसी मैदान और सैयद साहब मस्जिद की ईदगाह में सन्नाटा है। बताया जा रहा है कि पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुμती को नमाज अदा करने की अनुमति दी गई। 5 अगस्त को हिरासत में लिए गए कई नेताओं ने डल झील के किनारे स्थित सेंटूर होटल में नमाज पढ़ी।

J&K में सड़कों पर फिर घूमे डोभाल

हालात का जयजा लेने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) कश्मीर के अलग- अलग हिस्सों में घूमे। वह लाल चौक, श्रीनगर, सौरा, पंपोर, लाल चौक, हजरबल, बडगाम और दक्षिण कश्मीर के जिले पुलवामा, अंवतीपोरा व बेलगाम पहुंचे।