बिल्डर से परेशान किसान ने खेत में फांसी लगाकर की आत्महत्या

बिल्डर से परेशान किसान ने खेत में फांसी लगाकर की आत्महत्या

भोपाल।   कोलार इलाके में बिल्डर से परेशान होकर एक किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों ने मंगलवार सुबह खेत स्थित आम के पेड़ पर मृतक का शव लटका देखा। मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें उसने एक व्यक्ति को आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है। जो बिल्डर बताया जाता है, जिसका मोबाइल नंबर लिखा है। कोलार पुलिस के अनुसार, ग्राम बैरागढ़ चिचली निवासी देवकरण मीणा (62) किसान है, जोकि प्रॉपर्टी डीलिंग भी करता था। मृतक के परिवार में चार लड़के और दो बेटियां हैं। सभी की शादी हो चुकी है। रोजाना की तरह मंगलवार तड़के देवकरण घर से एक थैला लेकर निकला था और घर वालों से यह कहकर गया था कि रात में आंधी चली थी, खेत पर आम गिरे होंगे। कुछ देर बाद ही एक युवक ने परिजनों को घर आकर सूचना दी कि देवकरण ने आम के पेड़ से फांसी लगा ली। सुबह साढेÞ 7 बजे परिजनों खेत पहुंचे, जहां आम के पेड़ पर देवकरण फांसी पर लटका हुआ था। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर आ गई। शव को नीचे उतारकर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया। ईओडब्ल्यू में भूखंड की चल रही थी जांच: भतीजे जितेंद्र मीणा का कहना है कि उनके चाचा देवकरण पर ईओडब्ल्यू में एक शासकीय भूखंड की जांच का मामला चल रहा है। इसमें उन्हें चंदूराम ने फंसाया था। मामले में जल्द ही फैसला आने वाला था, जिसको लेकर चंदूराम उनको परेशान कर रहा था, जिसके कारण वह तनाव में थे।