योजनाओं पर चार समूहों का मंथन सीएस को आज सौंपी जाएगी रिपोर्ट

योजनाओं पर चार समूहों का मंथन सीएस को आज सौंपी जाएगी रिपोर्ट

भोपाल। सरकार की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा करने बनाई गई चार समूहों ने प्रारंभिक मंथन पूरा कर लिया है। शनिवार को मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहंती के साथ प्रमुख बिंदुओं पर चर्चा होगी। अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री के साथ बैठक के दौरान लिए जाएंगे। सरकार की वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है। करीब दो लाख करोड़ का कर्ज हो चुका है। इससे निबटने के लिए सरकार ने अल्टरनेटिव फाइनेंस सिस्टम पर एक दिन की वर्कशाप की है। वहीं सीनियर आईएएस अफसरों के चार समूह बनाए हैं। समूहों को विभिन्न योजनाओं की समीक्षा का दायित्व सौंपा गया है। सभी समूहों ने चर्चाएं पूरी कर ली हैं। सूत्रों की माने तो किसी भी समूह ने योजनाओं को बंद करने पर जोर नहीं दिया है बल्कि उनके स्वरूप में बदलाव की बात कही गई है। जैसे कि छात्रवृत्ति योजना, पेंशन, मुमं तीर्थ दर्शन, कन्या सामूहिक विवाह, संबल, स्वाभिमान और अनुदान योजनाओं पर मंथन किया गया। सूत्रों की माने तो समूहों ने छोटी योजनाओं को एक छत के नीचे लाने की शिफारिशें की हैं। हितग्राही चयन में सावधानी बरते जाने पर जोर दिया है। अधोसरंचना और ऊर्जा क्षेत्र के समूह से विभागों ने ज्यादातर योजनाएं जारी रखे जाने की बात कही है। घरेलू और कृषि उपभोक्ताओं को रियायती दर पर बिजली देने के मामले में निर्णय मुख्यमंत्री पर छोड़ा गया है।