लंबे समय तक आतंक का पर्याय रहा गैंगस्टर विजय यादव

लंबे समय तक आतंक का पर्याय रहा गैंगस्टर विजय यादव

जबलपुर ।  नरसिंहपुर जिले में पुलिस एनकाउंटर के दौरान मौत के घाट उतरा गैंगस्टर विजय यादव लंबे समय तक शहर में आतंक का पर्याय रहा है। उसके साथ मारा गया बदमाश समीर खान अकेला नहीं बल्कि ऐसे दर्जनों अभी भी पुलिस के निशाने पर हैं। अनेक मामलों में शहर भर के विभिन्न थानों की पुलिस लगातार इनकी तलाश कर रही है। एनकाउंटर की इस घटना पर जहां एक तरफ उंगलियां उठना शुरू हो गई हैं तो वहीं बदमाशों में खलबली भी मच गई है। उल्लेखनीय है कि लगभग डेढ़ दशक सेगैंगस्टर विजय यादव लगातार बदमाशी की उंचाई पर पहुंचता रहा है। पुलिस से बचकर निकलने, पुलिस के चंगुल से भागने और पुलिस पर हमला करने में उसकी मास्टरी रही है। कथित एनकाउंटर का नेतृत्व करने वाले एडीशनल एसपी राजेश तिवारी लंबे समय से विजय यादव की हर खामी और खूबी से आधी रात से पुलिस थी परेशान बताया जाता है कि शहर में कांग्रेस नेता राजू मिश्रा और बदमाश कुक्कू पंजाबी को गोलियों से छलनी करने वाले विजय यादव घेरने के लिए नरसिंहपुर पुलिस आधी रात से सक्रिय हो गई थी। रात करीब साढ़े तीन बजे से सुआतला थाना क्षेत्र के इलाकों में घूमती रही पुलिस ने झिराघाटी से लेकर कुमरोड़ा गांव के पास स्थित निर्माणाधीन पुल तक पीछा करते हुए आखिरकार उसे घेर ही लिया और तड़के साढ़े चार बजे एनकाउंटर हो गया। मिनोचा हत्याकाण्ड से बढ़ा रसूख गोरखपुर व्यापारी संघ के अध्यक्ष दीपक उर्फ बिट्टू मिनोचा की 27 नवंबर 2011 को रामपुर आदर्श नगर के पास गोली मारकर हत्या करने के बाद विजय यादव का रसूख बढ़ गया था। इसके बाद उसने अनेक वारदातें कीं, जिसमें फिरौती की कई वारदातें फरियादियों द्वारा थाने में दर्ज ही नहीं कराई गइं। 4 जनवरी 2017 की रात पारिजात बिल्डिंग के सामने डबल मर्डर के बाद गैंग आफ जबलपुर के रूप में विजय और उसके गुर्गों को पहचाना जाने लगा। वाकिफ हैं। गोरखपुर थाने में बतौर टीआई रहते हुए तथा बाद में सीएसपी रहकर उन्होंने विजय की हर आपराधिक गतिविधि को बारीकी से जाना व समझा है।

विजय यादव का आपराधिक रिकॉर्ड

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 30/04 धारा 294, 324, 506, 34,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 799/04 धारा 5, 27 आर्म्स एक्ट 211, 338, 182 भादवि,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 195/05 3/5 विपअ, 307, 34,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 193/05, धारा 307, 342, 3/5 विपअ,

*थाना गोरखपुर अपराध क्र. 307/07 धारा 397,394, 341,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 790/07 धारा 307,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र.796/07 धारा 384, 506, 34, 120बी, 307,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 806/07 धारा 384, 506,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र.805/07 धारा 384, 507,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र.810/07 धारा 384,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र.811/07 384,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र.254/08, धारा 384,

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 908/11 धारा 25,27 आर्म्स एक्ट

* थाना गोरखपुर अपराध क्र. 1011/11 धारा 307,120बी, 34 भादवि 25, 27 आर्म्स एक्ट, * थाना गोरखपुर अपराध क्र.811/14 धारा 294, 307,323 भादवि 27 आर्म्स एक्ट,

* थाना कोतवाली अपराध क्र. 08/17 धारा 147, 148, 149, 302, भादवि

* थाना गोहलपुर अपराध क्र. 184/11 धारा 294, 506,324, 34 ताहि

* थाना गढ़ा अपराध क्र. 313/05 धारा 25,27 आर्म्स एक्ट