दिवाली से पहले बाजार में होंगे कम प्रदूषण वाले ग्रीन कै्रकर्स

दिवाली से पहले बाजार में होंगे कम प्रदूषण वाले ग्रीन कै्रकर्स

नई दिल्ली। दिवाली नजदीक आ रही है और दिवाली पर पटाखे फोड़ने के शौकीन लोगों के लिए लोगों के लिए अच्छी खबर आई है। अब से बाजार में ग्रीन क्रैकर्स मिलेंगे यानी ऐसे पटाखे जो ना सिर्फ कम आवाज करेंगे बल्कि प्रदूषण भी कम करेंगे। ये पटाखे पहले मिल रहे पटाखे की तरह ही होंगे लेकिन इनके फटने से पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होगा। वहीं इनकी कीमत भी पहले मिल रहे पटाखे जैसे ही होगी। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सीएसआईआरए नईईआरआई द्वारा बनाए गए इन पटाखों को दिखाया। ये ग्रीन कै्रकर्स वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) ने तैयार किए हैं। इस बार ग्रीन कै्रकर्स दिल्ली समेत देश के कई शहरों में उपलब्ध होंगे। 

प्रदूषण में आएगी 30 फीसदी की कमी :

इन ग्रीन कै्रकर्स या ग्रीन पटाखे से प्रदूषण में 30 फीसदी से ज्यादा की कमी आएगी। वहीं कुछ पटाखे ऐसे हैं, जिनसे प्रदूषण और कम होगा, साथ ही ध्वनि प्रदूषण में भी कमी आएगी। सरकार ने ये ग्रीन पटाखे बनाने के लिए 230 कम्पनियों के साथ करार किए हैं। ये कंपनियां जल्द बाजार में ये ग्रीन कै्रकर्स बेचेंगी। 

पटाखों में होगा ग्रीन स्टीकर और बारकोड :

खास बात है कि इन पटाखों पर ग्रीन स्टीकर और भी बारकोड होगा। स्टीकर से इस बात की पुष्टि होगी की ये ग्रीन कै्रकर्स हैं। वहीं बारकोड के जरिए आप स्कैन कर ये पता कर सकते हैं कि ये पटाखे कहां बने हैं, निर्माता कौन है, वहीं पटाखे में क्या केमिकल है, इस सब की पूरी जानकारी मिल जाएगी। 

कम होंगे दाम

इनके दाम पहले मिल रहे पटाखों जैसे ही होंगे या उसे कम होंगे। इन पटाखों का परीक्षण पार्यावरण मंत्रालय के साथ तमिलनाडु के शिवगंगा में भी किया गया। 

वैज्ञानिकों को दिया था चैलेंज

मैंने साल 2017 में अपने सीएसआईआर के वैज्ञानिकों को चैलेंज किया था कि वे ऐसे पटाखे बना कर दें। अगले एक साल में ही वैज्ञानिकों ने इसे तैयार किया और इसे जल्द से जल्द बाजार में लाएंगे। डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री