एमबीए में बढ़ा स्टूडेंट्स का रुझान, कॉलेजों के साथ सीटें बढ़ीं

एमबीए में बढ़ा स्टूडेंट्स का रुझान, कॉलेजों के साथ सीटें बढ़ीं

भोपाल  ।  इंजीनियरिंग के कम हो रहे क्रेज के बीच मैनेजमेंट कोर्स के प्रति छात्रों का रुझान बढ़ रहा है। इसी का नतीजा है कि प्रदेश में मैनेजमेंट कोर्स संचालित कॉलेजों की संख्या में 3 प्रतिशत और सीटों में 5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। मैनेजमेंट कोर्स के प्रति छात्रों का रुझान बढ़ने के पीछे प्लेसमेंट और रोजगार के अवसर अधिक होना बताया जा रहा है। पिछले साल एमबीए के लिए प्रदेश के 217 कॉलेज और 27 हजार 136 सीटों के लिए अप्रूवल मिला था। इस बार कॉलेजों की संख्या बढ़कर 223 और सीटें 28 हजार 381 हो गई हैं। पिछले साल प्राइवेट कॉलेजों की कुल 90 हजार 303 सीटें थीं। इस साल यह संख्या घटकर 79 हजार 959 हो गई है। ट्रेडिशनल कोर्स की ओर लौट रहे स्टूडेंट्स: पीपुल्स समाचार ने एमबीए कोर्स के बारे में विशेषज्ञों से चर्चा की, तो उन्होंने इकोनॉमिक्स के रूल ‘डिमांड और सप्लाई’ का उदाहरण दिया। बीयू सीआरआईएम के विभागाध्यक्ष डॉ. विवेक शर्मा ने बताया कि पिछले एक दशक में इतने इंजीनियर तैयार हो गए हैं, जितनी देश में आवश्यकता नहीं है। यही कारण है कि इंजीनियरिंग की डिमांड घटी है। वहीं प्रोफेशनल कोर्सों में अधिक फीस देने के बाद भी रोजगार नहीं मिल रहा है।