ट्रेवल्स की बस में भोपाल से बुलवाते थे नशीले पदार्थ

ट्रेवल्स की बस में भोपाल से बुलवाते थे नशीले पदार्थ

इंदौर। नशीले पदार्थों के खिलाफ इंदौर पुलिस का अभियान जारी है। शनिवार रात भी पुलिस ने आॅटो रिक्शा से शहरभर में नशीली गोलियां व अन्य पदार्थ सप्लाय करने वाले तीन आरोपियों को पकड़ा है। आरोपी भोपाल से बस में नशीले पदार्थ बुलाकर आॅटो रिक्शा से सप्लाय करते थे। क्राइम ब्रांच एएसपी अमरेंद्र सिंह के अनुसार खबर मिली थी कि तीन लोग आॅटो रिक्शा एमपी- 09 आर-8105 में सदर बाजार थाना क्षेत्र स्थित गुटकेश्वर मंदिर के पास प्रतिबंधित नशीली दवाओं अल्प्राजोलम व डॉ रेड्डी सिरप बेचने के लिये से खडेÞ हैं। मौके पर दबिश देते हुए इमरान पिता कारी खान निवासी शास्त्री कॉलोनी (सदर बाजार), इरफान पिता इकबाल निवासी बंगला ग्रीन पार्क कालोनी (चंदननगर) और अजहर पिता मेहमूद खान निवासी जूना रिसाला को पकड़ा। आॅटो रिक्शा की तलाशी में 100 बोटल डॉ. रेड्डी सिरप व अल्प्राजोलम बीकाम टेबलेट 0.5 की 360 गोलियां बरामद हुई। जब्त प्रत्येक बोटल 100 एम एल की है जिसमे कोडिन फॉसफेट है। आरोपी दवाइयों के संबंध में लायसेंस नहीं बता सके। सख्ती से पूछताछ में उन्होंने अवैध रुप से इसे सप्लाय करने की बात कही। तीनों को गिरμतार कर सदर बाजार पुलिस के हवाले कर दिया गया। उनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है।

10 गुना दामों पर बेचते थे दवाइयां

पूछताछ में 10वीं तक पढ़े इमरान ने बताया वह मूलत: सदर बाजार क्षेत्र का ही रहने वाला है। वह एक साल से प्रतिबंधित नशीली दवाइयों को अवैध रूप से बेचने का काम कर रहा है। ट्रेवल्स के जरिए वह बस में भोपाल से थोक मात्रा में इन दवाइयों को बुलवाता था। बाद में उसे 10 गुना अधिक दाम में आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को बेच देता था। उसके कुछ बस ट्रेवल्स के कर्मचारियों से भी संपर्क है जिनके जरिए आसानी से दवाइयां आ जाती थी। वहीं 8वीं तक पढ़े रेडीमेड कपड़े बनाने का काम करने वाले इरफान ने बताया कि वह कृष्णापुरा पुल के पास दुकान लगाता है। 4-5 सालों से नशीली दवाओं के खरीदी - बिक्री कर रहा है। पहले वह साथियों के साथ मिलकर ये काम करता था। सालभर से वह अकेले ही काम कर रहा है। वह खुद भी इन गोलियों के नशे का आदी है। वहीं अजहर ने बताया कि वह आॅटो चलाता है और जब्त नशीली दवाइयों को सप्लाय करने में इमरान की मदद करता है। भोपाल से माल आने पर वो ही डिलीवरी लेने जाता था। एएसपी सिंह के अनुसार आरोपी कहां-कहां से माल लाते थे। विस्तृत पूछताछ की जा रही है। बड़े नेटवर्क का खुलासा होने की संभावना है।