आईपीएल रद्द होना तय, बीसीसीआई को वीजा प्रतिबंध और लॉकडाउन खत्म होने का इंतजार

आईपीएल रद्द होना तय, बीसीसीआई को वीजा प्रतिबंध और लॉकडाउन खत्म होने का इंतजार

नई दिल्ली ।  कोरोनावायरस के कारण इस साल होने वाला इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का रद्द होना तय है। 15 अप्रैल को देश में लगा 21 दिन का लॉकडाउन खत्म होगा। इससे पहले बीसीसीआई और फ्रेंचाइजी आईपीएल को लेकर अंतिम फैसला लेंगे। इससे पहले, बोर्ड ने केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए, यात्रा और वीजा प्रतिबंधों के कारण लीग को 15 अप्रैल तक टाल दिया था। आईपीएल से जुड़े सूत्र ने बताया कि अब आईपीएल अगले साल ही होगा। हमें पता है कि अभी देश में कैसे हालात हैं, ऐसे में कोई भी खतरा नहीं उठाएगा। स्टेडियम में सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल नहीं हो सकता। ऐसे में लीग अगले साल हो, यही अच्छा है। रिपोर्ट के मुताबिक, अगले साल लीग के लिए मेगा आॅक्शन (खिलाड़ियों की नीलामी) भी नहीं होगी। यानी ज्यादातर खिलाड़ी मौजूदा टीम के साथ ही रहेंगे। हालांकि, अगर कोई फ्रेंचाइजी किसी खिलाड़ी को खरीदना चाहेगी तो ऐसा कर सकेगी। 

सरकार ने विदेशी खिलाड़ियों को विजा देने से इनकर किया था

बोर्ड के आधिकारिक बयान से पहले विदेशी खिलाड़ियों के वीजा पर केंद्र सरकार के फैसले का इंतजार कर रहा है। 15 अप्रैल के बाद बीसीसीआई इसपर फ्रेंचाइजियों से बात करेगा। तब तक 21 दिन का लॉकडाउन भी खत्म हो जाएगा। शेड्यूल के मुताबिक, 2021 में मेगा आॅक्शन होना था। गांगुली ने टूर्नामेंट छोटा होने की बात कही थी, फ्रेंचाइजी विदेश में कराना चाहती है।

14 मार्च को बीसीसीआई ने बैठक में लिए कई निर्णय

सभी फ्रेंचाइजी के साथ कोविड-19 को लेकर बैठक हुई थी। इसके बाद बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने उम्मीद जताई थी कि लीग छोटी होगी। दूसरी तरफ, फ्रेंचाइजी 2009 में दक्षिण अफ्रीका में हुए, आईपीएल की तरह टूर्नामेंट कराना चाहती थी। तब लोकसभा चुनाव की वजह से लीग विदेश में हुई थी।37 दिन में मैच हुए थे। हालांकि, गांगुली ने साफ कर दिया था कि लोगों की सुरक्षा से समझौता नहीं किया जा सकता है। हालात की समीक्षा के बाद ही किसी तरह के फॉर्मूले पर विचार होगा। सरकार ने 15 अप्रैल तक वीजा प्रतिबंध लगाए, आईपीएल भी तब तक के टला है।

केंद्र सरकार ने कोरोना के कारण लगाए कई प्रतिबंध

इससे पहले, केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बाद यात्रा और वीजा से जुड़े कुछ प्रतिबंध लगाए थे। इसके तहत भारत आने वाले विदेशी नागरिकों के वीजा 13 मार्च से 15 अप्रैल तक के लिए सस्पेंड हैं। सिर्फ डिप्लोमैटिक, आॅफिशियल, यूएन और अंतर्राष्टÑीय संस्थान, प्रोजेक्ट और एम्प्लॉयमेंट वीजा को ही छूट है। आईपीएल में आने वाले विदेशी खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ को बिजनेस वीजा मिलता है। ऐसे में उन्हें भी देश में आने की अनुमति नहीं है। आईपीएल की 8 टीमों में 189 खिलाड़ी हैं। इनमें 64 विदेशी खिलाड़ी हैं। सरकार के वीजा प्रतिबंधों की वजह से इनपर 15 अप्रैल तक भारत आने पर प्रतिबंध है।

भारत में कोरोनावायरस के 1 हजार से ज्यादा मरीज

भारत में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। वायरस से संक्रमितों की संख्या 1 हजार के पार पहुंच गई है, जबकि मरने वालों का आंकड़ा भी 30 से ऊपर पहुंच गया है। इस खतरे को देखती हुए, सभी को सतर्क रहेने को कहा है।