लोकायुक्त टीम को देखकर आधे घंटे बाथरूम में छिपे रहे संयुक्त संचालक

लोकायुक्त टीम को देखकर आधे घंटे बाथरूम में छिपे रहे संयुक्त संचालक

जबलपुर  ।   अधारताल स्थित आरबी राजोदिया के निवास पर नर्सरी संचालक से 1 लाख रुपए लेने के बाद राजोदिया उक्त रकम गिन रहे थे कि तभी लोकायुक्त की टीम ने दबिश देकर उन्हें रंगेहाथों पकड़ लिया। जब डीएसपी जेपी वर्मा ने अपना परिचय दिया तो राजोदिया घर की बाथरूम में करीब आधा घंटे तक छिपे रहे। लोकायुक्त टीम द्वारा की गई करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद राजोदिया बाथरू म से निकले और कहने लगे कि उन्होंने किसी से कोई रूपए नहीं मांगे हैं उन्हें फंसाया जा रहा है। जबकि घूस के रूपए उनके हाथों में थे। अवकाश के दिन सुबह-सुबह हुई लोकायुक्त टीम की कार्रवाई से उद्यानिकी विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों में हड़कंप मचा रहा। टीम ने उक्त घूस की रकम को जब्त करते हुए जांच शुरू कर दी है। रेड कार्रवाई के दौरान डीएसपी लोकायुक्त जेपी वर्मा, निरीक्षक आस्कर किंडो, निरीक्षक कमल सिंह उइके, आरक्षक दिनेश दुबे, विजय सिंह बिष्ट, अतुल श्रीवास्तव, चालक रविंद्र सिंह उपस्थित रहे।

आवेदक ने एसपी से की थी शिकायत

लोकायुक्त डीएसपी जेपी वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि पौध नर्सरी में भारी मात्रा में सप्लाई हुए पौधों के 25 लाख रुपए के बिल को पास करने के लिए उद्यानिकी विभाग जबलपुर के संयुक्त संचालक आरबी राजोदिया ने नर्सरी संचालक ने 1 लाख रुपए की घूस मांगी थी जिसकी शिकायत पहले ही नर्सरी संचालक द्वारा लोकायुक्त एसपी अनिल विश्वकर्मा से कर दी गई थी। रविवार को फिर प्लान के मुताबिक लोकायुक्त ने संयुक्त संचालक को घर से ट्रेप कर लिया।

घर से ट्रेप होने के बाद लगी आसपास के लोगों की भीड़

जानकारी के अनुसार संयुक्त संचालक आरबी राजोदिया ने पौध नर्सरी संचालक से रुपए अपने निवास स्थान अधारताल में अवकाश के दिन बुलवाए थे जिन नोटों पर लोकायुक्त की टीम पहले ही पाउडर लगा चुकी थी। संयुक्त संचालक उद्यानिकी जबलपुर संभाग आरबी राजोदिया के घर में ट्रेप होने की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैल गई ।