कमलनाथ अपने मंत्रियों को बयानबाजी से रोकें, मैं तो मरते दम तक रहूंगा मामा

कमलनाथ अपने मंत्रियों को बयानबाजी से रोकें, मैं तो मरते दम तक रहूंगा मामा

भोपाल। इधर, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों के ट्वीट पर जवाब दिए हैं। उन्होंने कहा कि मैं कमलनाथ जी से निवेदन करता हूं कि वे अपने मंत्रियों को बयानबाजी से रोके। जनता के हर आंदोलन को नाटक और नौटंकी कहना, जनता का अपमान है। कांग्रेस के मेरे मित्र कहते हैं कि अब तो शिवराज मुख्यमंत्री नहीं हैं, तो बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में क्या करने जा रहे हैं? मैं उनसे कहना चाहता हूं कि मुख्यमंत्री भले ही आज नहीं हूं, लेकिन आपका भाई (किसानों से)और बच्चों का मामा तो मरते दम तक रहूंगा। एक अन्य ट्वीट में कहा कमलनाथ जी से जनता की यह अदालत मांग करती है कि छोटे व्यापारियों के नुकसान का मुआवजा दें। मजदूरों को मजदूरी दें। घरों और पशुओं के नुकसान की भरपाई करें। प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने कहा था कि स्व सहायता समूहों का कर्जा माफ होगा और अब वादे से मुकर रही है। बैंक वाले आकर पैसा मांग रहे हैं। यह वादा खिलाफी और मनमानी हम नहीं चलने देंगे। कमलनाथ जी कर्जा तो माफ करना ही होगा। चौहान ने कहा कि बिजली के बड़े बड़े बिल और स्वसहायता समूह का कर्जा माफ न करने के खिलाफ हम सविनय अवज्ञा आंदोलन चलाएंगे और सरकार के बहरे कानों तक जनता की आवाज पहुंचाकर न्याय दिलाएंगे। एक अन्य ट्वीट में चौहान ने कहा मैं मुख्यमंत्री से आग्रह करता हूं कि जनता की सभी मांगे पूरी करें। 2 लाख तक का कर्जा तत्काल माफ करे।