लेबनान : वॉट्सएप पर लगाया था 20% टैक्स, होने लगा विरोध, पीएम साद ने दिया इस्तीफा

लेबनान : वॉट्सएप पर लगाया था 20% टैक्स, होने लगा विरोध, पीएम साद ने दिया इस्तीफा

बेरुत। लंबे समय से चल रहे प्रदर्शनों के बाद आखिरकार लेबनान प्रशासन को झुकना पड़ा है। देश के प्रधानमंत्री साद हरीरी ने इस्तीफे का ऐलान किया है। हरीरी का ये फैसला अपने सरकार के खिलाफ चल रहे दो हμतों से जारी प्रदर्शन के बाद आया है। इस्तीफा देते हुए हरीरी ने कहा, मैं अब आपसे यह नहीं छिपा सकता कि मैं अंत तक पहुंच गया हूं। मेरे सभी राजनीतिक साथियों से कहना है कि आज हमारी जिम्मेदारी है कि हम लेबनान की रक्षा करें। देश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाएं। आज हमारे पास एक अवसर है, जिसे हमें इसे बर्बाद नहीं करना चाहिए। 

प्रदर्शनकारियों ने जताई खुशी

जैसे ही पीएम हरीरी ने इस्तीफे का ऐलान किया ,प्रदर्शनकारियों के बीच खुशी की लहर छा गई। बेरूत में लोगों ने लेबनान का झंडा लहराया। हालांकि, इसी दौरान थोड़ी अराजकता फैल गई। इससे निपटने शहर के अलग-अलग हिस्सों में सेनाओं को तैनात किया गया है। 

17 अक्टूबर से हो रहा प्रदर्शन

17 अक्टूबर को लेबनान सरकार ने घोषणा की थी कि हरेक यूजर से पहली वॉट्सएप कॉल पर 20 प्रतिशत टैक्स वसूला जाएगा। इस घोषणा के साथ ही पूरे देश में सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज हो गए थे।