बीई की तरह अब एमबीए और एमसीए की 5% सीटों में भी होगा मुफ़्त एडमिशन

बीई की तरह अब एमबीए और एमसीए की 5% सीटों में भी होगा मुफ़्त एडमिशन

 भोपाल।  प्रदेश में इंजीनियरिंग के बाद अब एमबीए और एमसीए में भी एडमिशन की संख्या कम होती जा रही है। इसको देखते हुए एआईसीटीई ने जरूरी निर्देश जारी किए हैं कि तकनीकी शिक्षा विभाग एमबीए और एमसीए की पांच फीसदी सीटों पर ट्यूशन फीस वेबर स्कीम (टीएफडब्ल्यू) के तहत प्रवेश कराने के लिए काउंसलिंग कराए। इस आदेश के बाद निर्धारित आयवर्ग में आने वाले एमबीए-एमसीए में विद्यार्थियों को सत्र 2019-20 में नि:शुल्क पढ़ाई का मौका मिलेगा।

8 लाख तक की आय वालों के बच्चे होंगे लाभान्वित

प्रदेश के इंजीनियरिंग के साथ एमबीए और एमसीए कोर्स संचालित करने वाले कॉलेज अपनी पांच फीसदी सीटों पर नि:शुल्क प्रवेश कराएंगे। एआईसीटीई उन्हें इन सीटों पर विशेष प्रक्रिया के तहत प्रवेश अनुमति देगा। इसमें आठ लाख तक सालाना आय वाले परिवार के बच्चे टीएफडब्ल्यू के तहत प्रवेश ले पाएंगे। डायरेक्ट्रेट टेक्निकल एजूकेशन (डीटीई) इंजीनियरिंग के साथ एमबीए और एमसीए की काउंसलिंग कराएगा। यह काउंसलिंग सामान्य काउसंलिंग के पहले आयोजित की जाएगी।

यहां लागू होगा 30 फीसदी का प्रवेश नियम

जानकारी के मुताबिक पहली बार एमबीए और एमसीए में भी 30 फीसदी प्रवेश का नियम लागू होगा। इन दोनों कोर्सों में 30 फीसदी से कम प्रवेश होने पर कॉलेज टीएफडब्ल्यू के तहत प्रवेश नहीं दे पाएंगे। यानी जिन कॉलेजों में कुल सीटों का 30 फीसदी से कम एडमिशन हुए थे, वे टीएफडब्ल्यू के तहत प्रवेश नहीं दे पाएंगे।