नायक फिल्म की तरह कांग्रेस भी एक दिन का मुख्यमंत्री बनाएगी युवाओं को

नायक फिल्म की तरह कांग्रेस भी एक दिन का मुख्यमंत्री बनाएगी युवाओं को

पुणे। महाराष्ट्र की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस हर जतन कर रही है। आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना को पटखनी देने के लिए कांग्रेस ने खास रणनीति बनाई है। इसके तहत युवा मतदाताओं को लुभाने के लिए कांग्रेस पार्टी की युवा शाखा को खास जिम्मेदारी दी गई है। जो किसी भी राजनीतिक दल के लिए प्रतिबद्ध नहीं हैं, ऐसे युवा मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए कांग्रेस ने उन्हें एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बनने का मौका देने वाली एक प्रतियोगिता शुरू की है। इस अभियान के जरिए वे एक युवा घोषणापत्र तैयार कर रहे हैं। फिल्म नायक से प्रेरणा लेते हुए युवा कांग्रेस ने अपनी नई प्रतियोगिता का नाम ‘मैं भी नायक सीएम फॉर अ डे’ रखा है। हालांकि इस अभियान के तहत, उस शख्स को वास्तव में सीएम नहीं बनाया जाएगा, लेकिन जहां भी कांग्रेस की सरकार है वह वहां के सीएम के साथ एक दिन बिता सकेगा। इसके अलावा, उन्हें आगामी विधानसभा चुनावों के प्रचार के दौरान भी महत्वपूर्ण भूमिका दी जाएगी।

गैर राजनीतिक लोगों को पार्टी से जोड़ने की पहल :

महाराष्ट्र प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सत्यजीत तांबे ने कहा कि अधिकांश युवा आज सोशल मीडिया में फॉरवर्ड किए गए मैसेज को लेकर अपनी धारणा बना लेते हैं। उन्हें तथ्य मालूम नहीं होते हैं। उदाहरण के लिए, हिंजवडी से ही कई तकनीकी विशेषज्ञ नहीं जानते हैं कि राजीव गांधी इन्फोटेक पार्क पिछली कांग्रेस सरकार की देन है।

हर जिले से दो विजेता चुनकर भेजे जाएंगे मुंबई :

प्रतियोगिता के जरिए लोगों से महाराष्ट्र को समृद्ध और विकसित बनाने सुझाव मांगे जाएंगे। हर जिले के दो विजेता चुने जाएंगे और उन्हें मुंबई में विधानसभा के टिकट के साथ भेजा जाएगा। इस समूह में से पांच लोगों को मुख्यमंत्रियों के साथ एक दिन बिताने के लिए चुना जाएगा। विजेता भी वेक-अप महाराष्ट्र अभियान का हिस्सा बनेंगे।

विजेता कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्रियों संग बिताएंगे समय :

ताम्बे ने कहा कि मैं भी नायक, एक दिन के लिए सीएम से हम इन प्रतिभाशाली और रचनात्मक युवाओं को एक मंच देंगे। इस प्रतियोगिता के विजेता पंजाब, राजस्थान और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा करने का मौका देंगे। इसमें कोई संदेह नहीं है। इस तरह की प्रतियोगिता से भारत के मुख्यमंत्रियों, मंत्रियों और राजनेताओं का निर्माण करने में मदद मिलेगी।