लोकसभा चुनाव है नरेन्द्र मोदी व राहुल के बीच, मैं कड़ी मात्र

लोकसभा चुनाव है नरेन्द्र मोदी व राहुल के बीच, मैं कड़ी मात्र

ग्वालियरै। लोकसभा चुनाव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता और कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच का था। इसमें मैं सिर्फ कड़ी मात्र ही था। जिसमें सभी भाजपा नेताओं ने अपने अपने क्षेत्र में मेहनत की। यह बात ग्वालियर लोकसभा चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न होने पर भाजपा प्रत्याशी व महापौर विवेक शेजवलकर ने मतदाताओं का धन्यवाद करते हुए पत्रकारों से कही। गुरूवार को आयोजित चर्चा के दौरान भाजपा प्रत्याशी व महापौर ने कहा कि उन्हें 28 वर्ष पुराने कार्यकर्ता मिले, जिन्हें देखकर मैं धन्य हो गया। इन कार्यकतार्ओं ने कहा कि उन्होंने पूर्व सांसद स्व. नारायण कृष्ण शेजवलकर के समय भी वोट किया था और आज भी वोट करेंगे। उन्होंने कहा कि 2019 लोकसभा का चुनाव भाजपा नहीं, जनता ने लड़ा है और जनता ही नरेंद्र मोदी को पुन: प्रधानमंत्री बनाने के लिए आतुर है। देश की दिशा क्या होगी, इसलिए जनता ने ज्यादा से ज्यादा मतदान किया। मोदी को रोकने के लिए सभी दल प्रयास कर रहे हैं, इसलिए जनता ने मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए मतदान किया। शेजवलकर ने कहा कि लोकसभा चुनाव हम भारी बहुमत से जीतेंगे। यह चुनाव सिर्फ प्रधानमंत्री चुनने या दो दलों के बीच का चुनाव नहीं है। इस चुनाव में जनता को फैसला करना है कि यह देश किस ओर आगे बढ़ेगा। जनता तय करेगी कि वह राष्ट्र विरोधी ताकतों का साथ देने वालों के साथ चलेगी या देश को मजबूत करने वालों को आगे बढ़ाने का काम करेगी। इस चुनाव में तय होगा कि देश प्रगति के रास्ते आगे बढ़ेगा, जिस पर मोदी सरकार के दौरान पिछले 5 वर्षों में आगे बढ़ाया है। शेजवलकर ने ग्वालियर लोकसभा संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न होने पर मतदाताओं को धन्यवाद दिया है। उन्होंने आभार जताते हुए कहा है कि सभी विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का अच्छा प्रतिशत मतदाताओं की लोकतंत्र के प्रति गहरी निष्ठा को बताता है। इस अवसर पर लोकसभा संयोजक अभय चौधरी, महामंत्रीगण कमल माखीजानी, शरद गोैतम, महेश उमरैया उपस्थित थे।

विवेक ने झाड़ा आॅडियो मामले से पल्ला : मुरैना सांसद अनूप मिश्रा के आॅडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस प्रत्याशी अशोक सिंह के समर्थन वाली बात पर मेयर ने साफ तौर पर कहा कि उन्हें इस तरह को कोई भी आॅडियो अभी तक नहीं मिला है, इसलिए वे इस मामले में कोई भी बात नहीं कर सकते है।