कश्मीर में आतंकी केंद्र बनाना चाहता था लंदन का हमलावर

कश्मीर में आतंकी केंद्र बनाना चाहता था लंदन का हमलावर

लंदन। इंग्लैंड की राजधानी लंदन के एक ब्रिज में चाकू से हमला करने वाला शख्स कश्मीर में एक आतंकवाद केंद्र स्थापित करना चाहता था ताकि ब्रिटिश आतंकवादियों की नई पीढ़ी वहां आतंकवाद फैला सके। चाकू हमले को अंजाम देने वाला हमलावर बाद में पुलिस की गोली लगने से मारा गया। इससे पहले हमलावार ने दो लोगों की हत्या कर दी और कई अन्य को घायल कर दिया था। हमलावर की पहचान ब्रिटिश नागरिक उस्मान खान के तौर पर की गई है, जो अरब प्रायद्वीप में अल कायदा की शाखा अनवर अल- अवलाकी के इंटरनेट दुष्प्रचार से प्रभावित था। अमेरिकी खुफिया विभाग ने अवलाकी की पहचान अल कायदा के येमेनी शाखा के लिए बाहरी अभियानों के प्रमुख के तौर पर की है।

हमलावर के आतंकियो के साथ थे घनिष्ठ संबंध

उस्मान खान इंग्लिश शहर स्टोक के आतंकवादियों के एक समूह का हिस्सा था जिसने लंदन और वेल्श की राजधानी कार्डिफ में आतंकवादियों के साथ घनिष्ठ संबंध बनाए थे। खान और उसके स्टॉक ग्रुप ने कश्मीर में एक मस्जिद के सटी जगह में आतंकवादियों को प्रशिक्षित करने की एक भयावह योजना भी बनाई थी।

आईएस ने लंदन ब्रिज हमले की ली जिम्मेदारी

अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने लंदन हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा है कि इसके एक लड़ाके ने इस हमले को अंजाम दिया था। इस्लामिक स्टेट ने अपनी न्यूज एजेंसी अमाक में एक पोस्ट जारी करते हुए इस घटना को अंजाम देने का दावा किया है। इस पोस्ट को टेलीग्राम एप्प ने भी प्रकाशित किया है।