संस्कृति महोत्सव में लहराएगा महाकौशल का परचम: प्रहलाद

संस्कृति महोत्सव में लहराएगा महाकौशल का परचम: प्रहलाद

जबलपुर  । केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव में महाकौशल क्षेत्र का परचम देश भर में लहराएगा। यह कहना है केन्द्रीय पर्यटन व संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटेल का। श्री पटेल रविवार को इस संबंध में आयोजित पत्रकारवार्ता में जानकारी दे रहे थे। उन्होंने बताया कि भारत की विविध सांस्कृतिक विरासत के उत्सव का 10 वां चरण मप्र की धरती पर आयोजित हो रहा है। 14 से 15 अक्टूबर को जबलपुर के शहीद स्मारक गोलबाजार में,16- 17 अक्टूबर को पीटीसी मैदान पीली कोठी सागर में तथा 21-21 अक्टूबर को र ीवा के शासकीय ठाकुर रणमत सिंह कॉलेज में आयोजन किया गया है।

सुरेश वाडकर, विश्वमोहन आएंगे

श्री पटेल ने बताया कि इस आयोजन में प्रख्यात गायक सुरेश वाडकर,विश्व मोहन भट्ट, रोनू मजूमदार, प्रीती पटेल, मालिनी अवस्थी और अनुराधा पौडवाल आदि अपने सुरों का जलवा बिखेरेंगे। इसके साथ माटी के लाल अंतर्गत प्रतिभावान स्थानीय कलाकारों को भी अपनी कला दिखाने का अवसर मिलेगा।

देश के विभिन्न प्रांतों में हो चुके 9 आयोजन

श्री पटेल ने बताया कि संस्कृति मंत्रालय के प्रमुख फेस्टीवल के रूप में राष्ट्रीय संस्कृ ति महोत्सव की शुरूआत 2015 में की गई थी। नवंबर 2015 में राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव की शानदार सफलता के बाद देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को दिखाने के इरादे से इसे विविध आयाम जैसे हस्तशिल्प, भोजन,चित्रकारी,मूर्तिकला,प्रदर्शन कला,लोक जनजातीय,शास्त्रीय व समकालीन विधाओं को एक स्थान पर दिखाने का निर्णय लिया गया। अभी तक संस्कृति मंत्रालय द्वारा 9 राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव आयोजित किए जा चुके हैं। जिसमें से 2 दिल्ली व 2 कर्नाटक और 1- 1 उत्तर प्रदेश व गुजरात, मध्यप्रदेश,उत्तराखंड व नार्थ ईस्ट में आयोजित हुए हैं।