तिघरा प्लांट पर मैन डिस्चार्ज लाइन फूटी

तिघरा प्लांट पर मैन डिस्चार्ज लाइन फूटी

ग्वालियर । तिघरा प्लांट की बदहाली के चलते एक बार फिर मैन डिस्चार्ज लाइन फूट गई, जिसे तत्काल सुधार की मशक्कत के बाद 6.30 घंटे से ज्यादा की मेहनत से देर शाम सुधार लिया गया। हालांकि इस बीच ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में स्थित पानी की टंकियां नहीं भर पाई। जिससे सोमवार को पूरे विधानसभा क्षेत्र में कम दबाव से पानी मिलेगा। एडीबी के तहत तिघरा बांधा पर 45 एमएलडी का फिल्टर प्लांट बनाया गया है। निगमायुक्त संदीप माकिन को अधीक्षण यंत्री आरएलएस मौर्य द्वारा प्लांट की बदहाली व लीकेज होने पर कभी भी बस्ट होने की स्थिति कंट्रोल करने की जानकारी देने पर कुछ संधारण कार्य तत्काल करवाया जा चुका है,लेकिन अभी 10 दिन दिन-रात करने के बाद भी काम अधूरा है। हालांकि इन कार्यों के लिए स्वीकृति का इंतजार है। बदहाली के शिकार तिघरा प्लांट पर रविवार को फिल्टर प्लांट की मैन डिस्चार्ज लाइन में लीकेज हो गया। स्थिति बिगड़ने से पहले मौके पर मौजूद कर्मचारियों ने तत्काल प्लांट को बंद कर वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी। अधिकारियों ने प्लांट बंद कर तत्काल लीकेज ठीक करने के निर्देश दिए। दोपहर 12 बजे लीकेज ठीक करने का कार्य शुरू हुआ जो शाम 6.30 तक चला। संधारण होने के बाद प्लांट को चालू कर दिया गया। 400 एमएम के डिस्चार्ज पाइप में लीकेज होने के दौरान गजराराजा पानी की टंकी को भरने के लिए सप्लाई की जा रही थी। बीच में प्लांट बंद होने से यह टंकी पूरी नहीं भर सकेगी। इसके चलते सोमवार को दक्षिण विधानसभा के कुछ क्षेत्रों में कम दबाव से पानी पहुंचेगा। जहां पानी नहीं मिलेगा, वहां टैंकर से सप्लाई की जाएगी। अधिकारियों के अनुसार तिघरा फिल्टर प्लांट पर दो पंप लगे हुए हैं। संधारण के बाद शाम 6.40 पर पहला पंप शुरू किया गया। इसके बाद लाइन को चैक किया। जब कहीं लीकेज नहीं दिखाई दिया, तब 7.15 बजे दूसरा पंप चालू किया गया। फिल्टर प्लांट पर तेज गति से आने वाले पानी के बहाव के चलते लाइनें लीक हो जाती हैं। यही वजह है कि समय-समय पर प्लांट का मेंटेनेंस आवश्यक है।