ओलंपिक टेस्ट इवेंट के दूसरे मैच में न्यूजीलैंड से हारी पुरुष हॉकी टीम

ओलंपिक टेस्ट इवेंट के दूसरे मैच में न्यूजीलैंड से हारी पुरुष हॉकी टीम

टोक्यो। भारतीय पुरुष हॉकी टीम को ओलंपिक टेस्ट इवेंट के अपने दूसरे मुकाबले में रविवार को न्यूजीलैंड से 1-2 से हार का सामना करना पड़ा। ओई स्टेडियम में खेले जा रहे इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम के कप्तान हरमनप्रीत सिंह ने पेनल्टी कार्नर पर मैच के दूसरे मिनट में ही गोल कर टीम को बढ़त दिला दी। भारत को मैच के शुरुआती मिनट में पेनल्टी कार्नर मिला और हरमनप्रीत ने इसका फायदा उठाते हुए शानदार गोल किया और मैच में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

आखिरी हॉफ में न्यूजीलैंड की वापसी

मैच के आखिरी हॉफ में हालांकि न्यूजीलैंड की टीम ने जबरदस्त तरीके से वापसी की और जेकोब स्मिथ ने मैच के 47वें में गोल कर दोनों टीमों का स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया। इसके बाद मुकाबले के अंतिम समय में 60वें मिनट पर न्यूजीलैंड के सैम लेन ने गोल कर 2-1 की बढ़त हासिल कर ली। लेन के अंतिम मिनट में किए गोल की बदौलत विश्व रैंकिंग में आठवें नंबर की टीम न्यूजीलैंड ने विश्व के पांचवें नंबर की टीम भारत को मुकाबले में पराजित कर दिया।

मलेशिया को हराया था 6-0 से -

इससे पहले शनिवार को भारत ने अपने पहले मुकाबले में 12वें नंबर की टीम मलेशिया को 6-0 से पीटा था। भारतीय टीम अंक तालिका में दो मैचों में एक जीत और एक हार के साथ दूसरे स्थान पर है। भारतीय पुरुष हॉकी टीम का अगला मुकाबला मंगलवार को मेजबान जापान से होगा।

भारतीय महिलाओं ने वर्ल्ड नं. 2 आस्ट्रेलिया को ड्रा पर रोका

गुरजीत कौर के 59वें मिनट के गोल की बदौलत भारतीय महिला हॉकी टीम ने विश्व की दूसरे नंबर की टीम आस्ट्रेलिया को ओलम्पिक टेस्ट इवेंट के अपने दूसरे मुकाबले में रविवार को 2-2 के ड्रा पर रोक दिया। विश्व की 10वें नंबर की टीम भारत के लिए इस मुकाबले में वंदना कटारिया ने 36वें और गुरजीत कौर ने 59वें मिनट में गोल किये। आस्ट्रेलिया की तरफ से कैटीन नोब्स ने 14वें मिनट में पेनल्टी स्ट्रोक पर गोल किया जबकि और ग्रेस स्टीवर्ट ने 43वें मिनट में मैदानी गोल किया। भारतीय टीम ने अपने पहले मुकाबले में मेजबान जापान को 2-1 से हराया था। भारत का इस राउंड रोबिन टूर्नामेंट में तीसरा और अंतिम मुकाबला मंगलवार को चीन से होगा। भारतीय गोलकीपर सविता ने इस मुकाबले में कुछ अच्छे बचाव कर आस्ट्रेलिया को ज्यादा गोल करने से रोके रखा। भारत दो मिनट शेष रहते एक गोल से पिछड़ा हुआ था।