जमातों को सुविधाएं देने मोबाइल एप व वेब पोर्टल तैयार

जमातों को सुविधाएं देने मोबाइल एप व वेब पोर्टल तैयार

भोपाल आलमी तब्लीगी इज्तिमा में आने वाले जमातियों के लिए इस बार वर्ल्ड क्लास सुविधाएं की जा रही हैं। नगर निगम ने मोबाइल एप्लीकेशन और वेब पोर्टल तैयार किया है। इसमें इज्तिमा स्थल पर उपलब्ध सुविधाओं की पूरी जानकारी तथा सुविधा स्थल चिह्नित हैं। यह एप्लीकेशन विभिन्न देशों से आने वाले अपनी पसंद की भाषा चुन सकेंगे। इस एप्लीकेशन से स्थलों पर जाने का रूट देखा जा सकेगा। मेडिकल इमरजेंसी, पुलिस और निगम के कॉल सेंटर से कनेक्ट हो सकते हैं। एप्लिकेशन डाउनलोड करने के लिए और वेब पोर्टल खोलने के लिए क्यू आर कोड उपलब्ध कराया जाएगा। जमातियों को क्यूआर कोड जैसे ही स्केन करेंगे उन्हें हेल्प डेस्क और सुविधाओं की जानकारी मोबाइल पर उपलब्ध हो जाएगी। इसमें नक्शे, फूड जोन, शौचालय व पार्किंग सहित अन्य सुविधाएं शामिल हैं। इन्हें डिजिटल लॉकर बनाकर एक क्यू आर कोड से लिंक कर दिया जाएगा। इससे कोई भी व्यक्ति हेल्प डेस्क और कमांड सेंटर से संपर्क कर उन तक पहुंच बना सकेगा। इत्जिमा क्षेत्र की सीसीटीवी कैमरों से मॉनीटरिंग की जाएगी। यह जानकारी गुरुवार को संभगायुक्त कल्पना श्रीवास्तव की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में दी गई। बैठक में बताया गया है कि 30 साल बाद इज्तिमा में आने वालों के लिए दो स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी। 25 नवंबर को हबीबगंज से हजरत निजामुद्दीन तक विशेष ट्रेन चलाई जाएंगी।

इज्तिमा में वेज के साथ ही नॉनवेज भी मिलेगा

इधर अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील ने स्पष्ट किया है कि इज्तिमा में वेज और नॉनवेज दोनों प्रकार का भोजन उपलब्ध रहेगा। अकील ने कहा है कि मेजवान एवं मेहमान स्वेच्छा से जो भोजन लेना चाहें, ले सकेंगे।

अधिकारी रोज पेश करेंगे रिपोर्ट : उधर कलेक्टर तरुण पिथौड़े ने इज्तिमा में लापरवाही न बरतने की सख्त हिदायत अधिकारियों को दी है। उन्होंने 9 विभागों को रोजाना निश्चित फॉर्मेट में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।

यह भी दिए निर्देश

* इत्जिमा से पूरे देश में ग्रीन और क्लीन भोपाल का संदेश जाना चाहिए। स्वच्छता के मामलें में ऐसी रणनीति अपनाई जाए, जिससे सभी तरह के अपशिष्टों का तत्काल निपटारा हो सकें।

* पूरे क्षेत्र में पेयजल, प्रकाश, सफाई और सुगम आवागमन की सुविधाएं उत्कृष्ट श्रेणी की हो।

* इज्तिमा स्थल तक पहुंचने वाले मार्गों का सुधार कार्यों, पार्किंग स्थल से लेकर एयरपोर्ट, बस स्टैंड और रेल्वे स्टेशन तक संकेतक आदि कार्य तत्काल पूर्ण हों।