17 दिन से ठप है सवा करोड़ से ज्यादा राशन कार्डों की जांच..!

17 दिन से ठप है सवा करोड़ से ज्यादा राशन कार्डों की जांच..!

भोपाल। प्रदेश के 1 करोड़ 17 लाख से अधिक सार्वजनिक वितरण प्रणाली के उपभोक्ताओं की जांच ठप है। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की खामियों के चलते पिछले 17 दिनों से किसी भी जिले में घर-घर सत्यापन शुरू नहीं हो पाया है। कई जिलों के कलेक्टरों के पास जांच संबंधी आदेश भी नहीं पहुंचे हैं। विभाग के आला अफसर भी कुछ कहने से बच रहे हैं। कांग्रेस सरकार ने बीपीएल राशन कार्डों की जांच कराने का निर्णय लिया है। इसके चलते खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने 5 सितम्बर से 29 अक्टूबर तक घर-घर जाकर सत्यापन का कार्यक्रम जारी कर दिया। विभाग ने राज्य स्तर पर एक कंट्रोल रूम भी बना दिया जहां हर दिन का अपडेट दिया जाना है। जांच अभियान के दौरान प्रत्येक जिले में कलेक्टर द्वारा कृषि, महिला-बाल विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, राजस्व, उद्यानिकी, श्रम, मंडी, नगरीय प्रशासन और आदिम-जाति कल्याण विभाग के मैदानी अमले की टीम गठित की जाना है। टीम दो सदस्यीय होगी। एक टीम 200 परिवारों का घर-घर जाकर सत्यापन करेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत और नगरीय क्षेत्र में नगर पालिका का एक कर्मचारी टीम का सदस्य होगा।

कलेक्टरों को आदेश का इंतजार

सूत्रों के अनुसार पिछले 17 दिन से जांच अभियान के लिए बनाया गया सिस्टम ध्वस्त है। अबतक किसी भी जिले में पात्रता पर्ची डाउन लोड नहीं हुई हैं जिससे घर घर जाने के लिए लिस्ट नहीं उपलब्ध कराई गई है। प्रशिक्षण कार्यक्रम भी नहीं हुआ। कलेक्टरों को अगले आदेश का इंतजार है।

प्रमुख सचिव से संपर्क नहीं

जांच कार्रवाई शुरू नहीं होने को लेकर पीपुल्स समाचार ने प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग नीलम शमी राव से उनके निवास के फोन नम्बर पर संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन सूचना दी गई कि मैडम आज बात नहीं करेंगी।